Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

सीएम नीतीश कुमार इन दिनों बिहार के विकास की जमीनी हकीकत जानने के लिए जमीन पर उतर आए हैं। लेकिन जमीन पर उतरते ही उनके जान पर खतरा मंडराने लगेगा, ये कभी उन्होंने भी नहीं सोचा होगा। दरअसल,  नीतीश कुमार पर बक्सर में भीड़ ने हमला कर दिया। भीड़ ने मुख्यमंत्री के काफिले पर पत्थर फेंके और नीतीश के खिलाफ नारेबाजी की। हालांकि, इसमें मुख्यमंत्री बाल-बाल बच गए। पत्थराव होते ही सुरक्षाकर्मियों ने नीतीश को अपने घेरे में ले लिया और उन्हें सुरक्षित गाड़ी में बैठा दिया। लेकिन तैनात जवानों ने उन्हें तो सुरक्षित बचा लिया लेकिन खुद को नहीं बचा सके औऱ वो गंभीर रूप से घायल हो गए।

यह घटना उस समय हुई जब सीएम अपने समीक्षा यात्रा पर थे। इस पत्थरबाजी में नीतीश के काफिले की कई गाड़ियों के शीशे टूट गए। पत्थरबाजी से काफिले में भगदड़ मच गई जिसमें सुरक्षाकर्मियों के अलावा कुछ आम आदमी भी जख्मी हुए। नंदर गांव वालों का आरोप है कि मुख्यमंत्री के सात निश्चय कार्यक्रम के तहत कोई भी काम उस गांव में नहीं हुआ था। इससे गांव वाले नाराज थे। मिल रही जानकारी के अनुसार कुछ असामाजिक तत्वों ने सीएम के रैली पर हमला किया था  और जमकर पत्थरबाजी की।

बता दें कि नीतीश कुमार राज्य में चल रही विकास योजनाओं और कार्यों की समीक्षा के लिए समीक्षा यात्रा पर निकले हैं। इस क्रम में वो हर जिले के सुदूर गांवों में जाकर विकास कार्य की समीक्षा कर रहे हैं। समीक्षा यात्रा के दौरान हर जिले में ‘सात निश्चय’ से संबंधित योजनाओं की प्रगति, शराबबंदी, बाल विवाह मुक्त एवं दहेज उन्मूलन कार्यक्रम, बिहार लोक शिकायत निवारण कानून के क्रियान्वयन सहित विभिन्न कार्यक्रमों में की गई घोषणाओं का अनुपालन और अन्य विकास एवं कल्याणकारी योजनाओं की समीक्षा की जा रही है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.