Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

जम्मू-कश्मीर के असली जमीनी हालात देखने के राज्यपाल सत्यपाल मलिक का निमंत्रण स्वीकारते हुए कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि उन्हें विशेष विमान की जरूरत नहीं है, सिर्फ उन्हें जम्मू-कश्मीर में आजादी से घूमने-फिरने की अनुमति चाहिए। राहुल ने आज ट्वीट कर राज्यपाल के न्योते का जवाब दिया। उन्होंने लिखा, ‘प्रिय राज्यपाल मलिक, जेऐंडके और लद्दाख आने के आपके श्रद्धापूर्ण निमंत्रण पर विपक्षी नेताओं के एक प्रतिनिधिमंडल के साथ मैं वहां आऊंगा।’

इससे पहले राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद जम्मू-कश्मीर के हालात पर राहुल गांधी के बयानों पर आपत्ति जतायी थी। उन्होंने राहुल को सोच-समझकर बयान देने की सलाह दी ताकि इस बेहद संवेदनशील मुद्दे पर कोई संकट न खड़ा हो जाए।

राज्यपाल ने कहा, ‘मैंने राहुल गांधी को यहां आने के लिए न्योता दिया है। मैंने उनसे कहा कि मैं आपके लिए विमान भेजूंगा ताकि आप स्थिति का जायजा लीजिए और तब बोलिए। आप एक जिम्मेदार व्यक्ति हैं और आपको ऐसे बात नहीं करनी चाहिए।’

राहुल ने ट्वीट में इसका जवाब देते हुए कहा, ‘हमें एयरक्राफ्ट की जरूरत नहीं है, लेकिन कृपया हमें घूमने-फिरने और लोगों, मुख्य धारा के नेताओं और वहां तैनात सैनिकों से मिलने की आजादी सुनिश्चत कर दीजिए।’

राहुल गांधी ने शनिवार की रात कहा था कि जम्मू-कश्मीर से हिंसा की कुछ खबरें आई हैं और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पारदर्शी तरीके से इस मामले पर चिंता व्यक्त करनी चाहिए। जिसपर राज्यपाल मलिक ने कहा कि इस मुद्दे को मुठ्ठी भर लोग हवा दे रहे हैं, लेकिन वे इसमें सफल नहीं होंगे। राज्यपाल ने कहा कि जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को हटाने में कोई सांप्रदायिक दृष्टिकोण नहीं है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.