Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

New Delhi: पाकिस्तान ने मंगलवार को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद से जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को रद्द करने के भारत के फैसले पर आपात बैठक करने के लिए कहा।

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा कि उन्होंने यूएन में पाक की स्थाई प्रतिनिधि मलीहा लोधी के जरिए सुरक्षा परिषद के अध्यक्ष को औपचारिक पत्र भेजा। वहीं अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने भी पाकिस्तान को स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनायें दीं और कहा कि इमरान खान अपने देश और सीमा पर शांति स्थापित करें।

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने सुरक्षा परिषद को पत्र में लिखा, “पाकिस्तान किसी संघर्ष को नहीं भड़काएगा। अगर भारत फिर से बल प्रयोग करने का विकल्प चुनता है, तो पाकिस्तान अपनी सभी क्षमताओं के साथ आत्मरक्षा में जवाब देने के लिए बाध्य होगा। इसी को देखते हुए पाकिस्तान ने इस आपात बैठक का निवेदन किया।”

शाह महमूद कुरैशी

यह साफ नहीं था कि 15-सदस्यीय परिषद इस अनुरोध का जवाब कैसे देगी और क्या किसी सदस्य को औपचारिक अनुरोध करने की आवश्यकता होगी। पाकिस्तान ने शनिवार को कहा कि उसे इस कदम को उठाने के लिए चीन का समर्थन था।

अगस्त महीने के लिए पोलैंड सुरक्षा परिषद का अध्यक्ष है। पोलिश विदेश मंत्री Jacek Czaputowicz ने मंगलवार को संयुक्त राष्ट्र में संवाददाताओं से कहा कि परिषद को पाकिस्तान से एक पत्र मिला था और कहा था, “इस मुद्दे पर चर्चा होगी और उचित निर्णय लिया जाएगा।”

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने भारत और पाकिस्तान को ऐसे किसी भी कदम से बचने के लिए कहा है जो जम्मू- कश्मीर के विशेष दर्जे को प्रभावित करे।

गौरतलब है कि भारत के इस कदम से जम्मू और कश्मीर राज्य के अधिकार समाप्त हो जायेंगे। इससे राज्य में उसके खुद के बनाए कानून नहीं चल पायेंगे और दूसरे राज्य के निवासियों को वहां संपत्ति खरीदने की अनुमति भी मिल जाएगी। 5 अगस्त को लिए गए इस फैसले के बाद से जम्मू- कश्मीर में टेलीफोन लाइनें, इंटरनेट और टेलीविजन नेटवर्क पर प्रतिबंध लगा दिया गया था।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.