Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

पाकिस्तान इन दिनों इतना बौखलाया हुआ है कि उसके नेता और अधिकारी क्या कर रहे हैं, उसे खुद ही कुछ नहीं पता चल रहा है। अब इतनी बौखलाहट के पीछे भारत का सर्जिकल स्ट्राइक है या उसका आर्थक संकट, यह पता नहीं। बता दें कि विदेश मंत्री सुषमा स्वराज द्वारा आतंकवादियों को पनाह देने और उनका ‘महिमामंडन’ करने के आरोपों के जवाब में पाकिस्तान ने रविवार को संयुक्त राष्ट्र में आरएसएस और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को टारगेट किया।  यूएन में पाकिस्तान के राजदूत साद वराईच ने रविवार को कहा, ‘आज के असहिष्णु भारत में असहमति के लिए कोई जगह नहीं है।’ साद ने आरएसएस  पर फासीवाद को बढ़ावा देने का आरोप लगाया। वहीं दूसरी तरफ पाकिस्तान के एक वरिष्ठ अधिकारी का वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें वो कुवैत के राजदूत का वॉलेट चुराते हुए नजर आ रहे हैं। इस शर्मनाक हरकत के बाद पूरी दुनिया पाकिस्तान पर हंस रही है।

यूएन में साद ने अपने बयान में कहा ‘हमारे क्षेत्र में आतंकवाद का प्रजनन स्थल और फासीवाद का केंद्र आरएसएस है. इनके द्वारा पूरे भारत में धार्मिक श्रेष्ठता का दावा किया जाता है।’ भारत की बराबरी करने के उद्देश्य से पाकिस्तानी राजदूत साद ने इसी साल जुलाई में असम में जारी एनआरसी का मुद्दा भी उठाया। उन्होंने कहा, ‘ऐसे देश में जहां ईसाई और मुस्लिम समेत सभी अल्पसंख्यकों को सार्वजनिक रूप से हिंदूओं की भीड़ द्वारा मौत के घाट उतार दिया जा रहा है। जहां खुलेआम हिंदुओं की धार्मिक श्रेष्ठता की वकालत करने वाला एक चरमपंथी हिंदू योगी आदित्यनाथ देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बन जाता है। जहां चर्च और मस्जिदों को जला दिया जाता है। निश्चित रूप से वो देश दूसरों को उपदेश देने की योग्यता नहीं रखता है।’ इसके अलावा साद ने बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह का नाम लिए बगैर कहा कि असम में रह रहे बंगाली अचानक से ‘बेघर’ हो गए हैं और उन्हें भारत के एक सीनियर नेता इन लोगों को ‘दीमक’ कहकर बुलाते हैं। हालांकि इससे पहले भारत ने यूएन के सामने अपनी बात रख दी थी। अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के सामने सुषमा स्वाराज ने दृढ़ता से अपनी बात रखी और साफ शब्दों में संदेश दिया कि आतंकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान अब भी निष्क्रिय है। साथ ही ये भी कहा कि आतंकवाद के प्रति उसकी प्रतिबद्धता अनवरत जारी है।

वहीं दूसरी ओर पाक अधिकारी के चोरी मामले में अधिकारी को गिरफ्तार कर लिया गया है। बता दें कि जॉइंट सेक्रेटरी स्तर के अधिकारी जरार हैदर खान संयुक्त मंत्रालय स्तरीय कमिशन मीटिंग में गए थे। वहां उन्होंने एक वॉलेट पड़ा देखा जिसे उन्होंने अपने कोट में डाल लिया। बाद में कुवैत के राजदूत ने अपने वॉलेट के खोने की खबर दी तो सीसीटीवी फुटेज में देखा गया कि पाक अधिकारी उसे चुरा रहे हैं।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.