Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

गुजरात के उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल के बेटे को अहमदाबाद एयरपोर्ट पर कर्मचारियों से बदसलूकी करने के बाद क़तर एयरवेज ने यात्रा करने से रोक दिया। ख़बरों के मुताबिक नितिन पटेल के बेटे जैमिन पटेल पत्नी झलक और बेटी जान्हवी के साथ छुट्टियाँ मानाने ग्रीस जाने के लिए एयरपोर्ट पहुंचे थे। जब वह एयरपोर्ट पहुंचे तो वह शराब के नशे में धुत्त थे। वह ठीक से चल भी नहीं पा रहे थे। इसके अलावा उन्होंने वहां मौजूद कर्मचारियों से बहस भी की थी। जिसके बाद उन्हें यात्रा करने से रोक दिया गया।

क़तर एयरवेज की जिस फ्लाइट से वह यात्रा करने वाले थे उसे सोमवार की सुबह चार बजे उड़ान भरना था। इस घटना के बारे में जब एयरपोर्ट के अधिकारियों से बात की गई तो उन्होंने बताया कि जैमिन इतने नशे में थे कि उड़ान भरने से पहले होने वाली चेकिंग और अन्य प्रक्रिया के दौरान उन्हें व्हीलचेयर का इस्तेमाल करना पड़ा था। हालांकि मामला बढ़ता देख जैमिन की पत्नी ने बदसलूकी के लिए कर्मचारियों से माफ़ी मांग ली थी।

इस पूरे मामले में गुजरात के उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल ने कहा कि यह राजनीति से प्रेरित है और उन्हें बदनाम करने की साज़िश है। उन्होंने कहा कि मेरा बेटा, उसकी पत्नी और बेटी छुट्टी के लिए जा रहे थे लेकिन एयरपोर्ट पहुँचते ही उसे उल्टियाँ होने लगी। जिसके बाद उसने अपनी माँ को फ़ोन किया और माँ के कहने पर वह घर लौट आया। यह ख़बर गलत है। हमारे विऱोधी झूठी खबर फैलाकर हमारी छवि ख़राब करना चाहते हैं।

गौरतलब है कि अभी कुछ दिनों पहले शिवसेना सांसद रविन्द्र गायकवाड भी एयर इंडिया के कर्मचारियों से बदसलूकी को लेकर सुर्ख़ियों में थे। तब इस मुद्दे को लेकर काफी हंगामा भी मचा था। बाद में एयर इंडिया ने उनपर बैन भी लगाया था। हालांकि यह बैन जल्द ही वापस ले लिया गया था। ऐसे में एक बार फिर एक बड़े नेता के बेटे द्वारा ऐसी बदसलूकी का मामला सामने आया है। दिलचस्प यह है कि इस मामले में कोई केस भी दर्ज नहीं किया गया है वहीँ अगर यह किसी आम आदमी द्वारा किया जाता तो उसे जेल तक जाना पड़ सकता था। ऐसे में सवाल उठता है कि क्या रसूख और पद कानून से बड़े हैं?

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.