Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

देश में एक बार फिर राम नाम गूंजेगा। अयोध्या के कारसेवकपुरम से आज दोपहर दो बजे ‘रामराज्य रथ यात्रा’ का शुभारंभ होगा। इस मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी अयोध्या में मौजूद रह सकते हैं। विहिप के महासचिव चंपत राय भी मौजूद रहेंगे।  इसके अलावा अयोध्या के संत महंत और बीजेपी के सभी विधायक सांसद और मंत्री भी शामिल होंगे। रामराज रथ यात्रा अपने 6 हजार किलोमीटर के सफर के दौरान एक करोड़ हिंदुओं में राम मंदिर को लेकर जन जागरण करेगी। यात्रा की आयोजक संस्था श्री राम दास मिशन यूनिवर्सल सोसायटी के अध्यक्ष स्वामी कृष्णानंद सरस्वती ने यह जानकारी सोमवार को दी। बता दें कि श्रीराम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास महाराज के उत्तराधिकारी व केन्द्रीय मार्गदर्शक मंडल के सदस्य महंत कमल नयन दास ने रविवार को रथयात्रा की तैयारियां देखीं।

यह रथयात्रा 39 दिनों में 6 राज्‍यों से होकर गुजरेगी। इस रामराज्य रथ यात्रा का मुख्य उद्देश्य श्रीराम जन्मभूमि पर राम मंदिर का निर्माण करवाना है।  स्वामी कृष्णानंद सरस्वती ने कारसेवकपुरम में बताया कि यात्रा का असली मकसद अयोध्या में भव्य राम मंदिर के लिए जन जागरण करना है। यह यात्रा का पहला चरण है जो अयोध्या से रामेश्वरम तक चलेगा। महाशिवरात्रि 13 फरवरी से राम राज्य रथ यात्रा कारसेवकपुरम से चलेगी। जो भरतकुंड व बनारस प्रयाग आदि पड़ावों से होकर 41 दिनों बाद राम नवमी के दिन तिरुअनंतपुरम में समाप्त होगी।

इस अवसर पर महंत कमल नयन दास ने कहा श्रीराम जन्म भूमि पर मंदिर बनने से ही देश में रामराज्य की स्थापना होगी। उन्होंने कहा कि जब-जब धार्मिक यात्राओं का आयोजन हुआ तब सामाजिक और सांस्कृतिक उत्थान का मार्ग प्रशस्त हुआ। गौरतलब है कि 28 साल पहले अयोध्या में विवादित भूमि पर राम मंदिर के निर्माण के लिए लालकृष्ण आडवानी की अगुवाई में भी रथ यात्रा निकाली गई थी। ,

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.