Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

अमेरिका में 9/11 हमले की 18वीं बरसी पर अफगानिस्तान में अमेरिकी दूतावास पर एक रॉकेट से हमला हुआ है। अधिकारियों ने बताया कि इस हमले में कोई हताहत नहीं हुई है।

आधी रात के बाद मध्य काबुल में धुआं छा गया और सायरन बजने की आवाजें सुनाई देने लगीं। दूतावास के अंदर कर्मचारियों ने लाउडस्पीकर पर एक संदेश सुना कि परिसर में रॉकेट से हमला किया गया है।

kabul

अफगानिस्तान के अधिकारियों ने तत्काल इस पर कोई टिप्पणी नहीं की है। नाटो मिशन ने भी किसी के हताहत ना होने की पुष्टि की है। अमेरिका की तरफ से तालिबान से शांति वार्ता रद्द करने के बाद ये पहला हमला है।

इससे पहले पिछले हफ्ते दो तालिबान कारों में बम धमाके ने काबुल को हिलाकर रख दिया था। इस हमले में कई नागरिक और नाटो मिशन के दो सदस्य मारे गए थे। अफगानिस्तान के साथ शांति वार्ता को रद्द करने के पीछे राष्ट्रपति ट्रंप ने यही वजह बताई थी।

blast

गौरतलब है कि 11 सितम्बर 2001 को अलकायदा प्रमुख ओसामा बिन लादेन के नेतृत्व में अमेरिका पर भीषण आतकंवादी हमला हुआ था। इसके बाद ही अफगानिस्तान में तालिबान का पतन हुआ था।

इसे अमेरिका के इतिहास के सबसे बड़े आतंकी हमले के तौर पर देखा जाता है। आज 18 साल बाद भी करीब 14,000 अमेरिकी सैनिक अफगानिस्तान में तैनात हैं।

साल 2001 में अमेरिका में आतंकवादियों ने विमान अपहरण कर न्यूयार्क के वर्ल्ड ट्रेड टावर की दो इमारतों, वर्जीनिया स्थित पेंटागन और पेन्सिलवेनिया पर हमला किया। इस हमले में 2977 लोगों की मौत हुई थी।

यह स्पष्ट नहीं है कि अमेरिकी तालिबान वार्ता फिर से शुरू होगी या नहीं।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.