Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

युवा निशानेबाज़ सौरभ चौधरी ने 18वें एशियाई खेलों में मंगलवार को पुरूषों की 10 मीटर एयर पिस्टल निशानेबाज़ी स्पर्धा में देश के लिये स्वर्ण पदक हासिल किया जबकि इसी स्पर्धा में अभिषेक वर्मा ने भी पोडियम पर जगह बनाते हुये कांस्य जीता। 16 साल के युवा निशानेबाज़ ने जेएससी शूटिंग रेंज में हुये फाइनल में एशियाई खेलों का रिकार्ड बनाते हुये 240.7 अंकों के साथ शीर्ष स्थान हासिल किया और स्वर्ण जीता। भारत के लिये इसी स्पर्धा में दूसरा पदक अभिषेक ने दिलाया। 29 साल के निशानेबाज़ ने 219.3 अंकों के साथ तीसरा स्थान हासिल कर कांस्य जीता। इस वर्ग का रजत पदक जापान के तोमोयूकी तात्सुदा ने जीता। वह 239.7 अंकों के साथ दूसरे स्थान पर रहे।

फाइनल में सौरभ काफी समय तक बढ़त के साथ दूसरे स्थान पर बने रहे थे लेकिन जैसे ही मात्सुदा ने 8.9 का शॉट लगाया सौरभ को मजबूत बढ़त मिल गयी और उनके आखिरी क्षणों में 10.2 के शॉट के साथ वह शीर्ष पर आ गये। इससे पहले क्वालिफिकेशन राउंड में भी सौरभ ने इतना ही लाजवाब प्रदर्शन किया था और वह 586 के सर्वाधिक स्कोर के साथ शीर्ष पर रहे थे जबकि अभिषेक ने 580 अंकों के साथ छठे स्थान पर रहकर फाइनल के लिये क्वालीफाई किया था।

इस स्पर्धा में उतरे दोनों भारतीय निशानेबाज़ों ने देश के लिये पदक दिलाये। मेरठ के सौरभ ने इसी के साथ 18वें एशियाई खेलों में भारत को निशानेबाजी का पहला स्वर्ण पदक दिलाया  जबकि एशियाई खेलों के इतिहास में यह भारत का कुल आठवां निशानेबाजी स्वर्ण पदक है। वहीं सीनियर स्पर्धा में युवा निशानेबाज़ का यह पहला पदक है। वह इससे पहले वर्ष 2017 के एशियन चैंपियनशिप में 10 मीटर एयर पिस्टल वर्ग में चौथे नंबर पर रहे थे। पेशे से वकील अभिषेक के लिये भी यह किसी बड़े अंतरराष्ट्रीय स्तर के खेलों में पदार्पण है, जिन्होंने पहले कभी निशानेबाजी विश्वकप में भी हिस्सा नहीं लिया है। भारत के लिये यह पदक इसलिये भी अहम है क्योंकि इस वर्ग में अब तक केवल विजय कुमार ही पदक जीत पाये हैं जिन्होंने 2010 के ग्वांग्झू खेलों में 10 मीटर एयर पिस्टल में कांस्य दिलाया था।

सौरभ और अभिषेक ने राष्ट्रीय चयन ट्रॉयल में अनुभवी जीतू राय और ओम मिथरवाल को मात देते हुये खेलों के लिये भारतीय दल में जगह बनाई थी। एशियाई खेलों में वर्ष 1974 के तेहरान खेलों में निशानेबाजी की इस स्पर्धा को शामिल किया गया था और खेलों के आखिरी 11 संस्करणों में चीन ने इसमें सर्वाधिक सात पदक जीते हैं जबकि कोरिया ने दो और जापान तथा उत्तर कोरिया के पास एक एक पदक है। लेकिन इस सूची में अब भारत का नाम भी जुड़ गया है।

क्वालिफिकेशन में सौरभ ने 40 अनुभवी निशानेबाजों की फील्ड में गेम्स रिकार्ड बनाते हुये शीर्ष पर जगह बनाई और वह पूर्व ओलंपिक चैंपियन कोरिया के जिन जोंगोह से दो अंक आगे रहे। सौरभ ने इससे पहले इसी वर्ग में जर्मनी में आईएसएसएफ जूनियर विश्वकप में 243.7 अंकों के साथ विश्व रिकार्ड बनाते हुये स्वर्ण जीता था।

बता दें कि सौरभ को उनकी मेहनत का फल भी मिला है। मेरठ के सौरभ चौधरी के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 50 लाख रुपये के ईनाम की घोषणा की है। इतना ही नहीं उन्होंने सौरभ को राजपत्रित नौकरी देने का भी वादा किया है।

                                        साभार- ईएनसी टाईम्स

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.