Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

मी टू कैंपेन आजकल खूब चर्चा में है। इस कैंपेन के जरिए महिलाएं अपने साथ वर्कप्लेस पर होने वाले व्यवहार को सामने ला रही हैं और अपने साथ हो रहे यौन शोषण का खुलासा कर रही हैं। मी टू  कैंपेन के जरिए महिलाओं ने बॉलीवुड से लेकर राजनीतिक से जुड़े कई नामी चेहरों से शराफत का मुखौटा हटाया है। तमाम माम बड़े डायरेक्टर्स, राजनेता और ऐक्टर्स पर महिला कलाकारों, पत्रकारों ने सेक्शुअल हैरसमेंट के आरोप लगाए हैं। अब इस मामले में एक बड़ी खबर आ रही है, केरल पुलिस की क्राइम ब्रांच ने केरल के पूर्व मुख्यमंत्री ओमन चांडी और सांसद केसी वेणुगोपाल के खिलाफ यौन शोषण का मामला दर्ज किया है। यह मामला सौर घोटाले की आरोपी सरिता एस नायर की शिकायत दर्ज हुआ है।

इस मामले में केरल पुलिस के डीजीपी लोकनाथ बेहरा ने कहा कि इन दोनों नेताओं के खिलाफ मामला नायर की शिकायत के आधार पर दर्ज किया गया है। उन्होंने कहा इस मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया गया है, जिसका नेतृत्व पुलिस अधीक्षक अब्दुल करीम द्वारा किया जाएगा। डीजीपी बेहरा ने कहा कि मामले में कानून अपना काम करेगा।

वहीं इस मामले में पूर्व मुख्यमंत्री ओमन चांडी ने प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि ये मामले राजनीति से प्रेरित हैं और वे कानूनी रूप से इसका सामना करने के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा कि राज्य में सत्तारूढ़ CPM के नेतृत्व वाले वाम लोकतांत्रिक मोर्चे (एलडीएफ) का यह कदम लोगों का ध्यान सबरीमला मामले से हटाने के लिए उठाया गया है।

गौरतलब है कि सौर घोटाले में आरोपी में सरिता एस नायर ने अपनी शिकायत में कहा था कि चांडी ने उनका मुख्यमंत्री आवास में यौन शोषण किया था। उनका आरोप है कि साल 2012 में वेणुगोपाल ने रोज हाउस में उनका बलात्कार किया था, जोकि तत्कालीन मंत्री एपी अनिल कुमार को आवंटित हुआ था।

राज्य में इससे पहले की संयुक्त लोक तांत्रिक गठबंधन (यूडीएफ) सरकार ने मामले की जांच के लिए तब जी शिवराजन आयोगकी 1037 पृष्ठों की रिपोर्ट को बीते साल नौ नवम्बर को विधानसभा के पटल पर रखा गया। जिसके मुताबिक चांडी और उनके निजी स्टाफ में चार लोग टेनी जोप्पन, जिक्कूमोन जकन, गनमैन सलीमराज और कुरूविला ने नायर और उनकी कंपनी टीम सोलर की मदद की थी।

रिपोर्ट में नायर के लिखे उस विवादित पत्र का भी जिक्र है जो पुलिस आयुक्त को 19 जुलाई, 2013 को लिखा गया। इसमें कांग्रेस और यूडीएफ के कई नेताओं के खिलाफ यौन शोषण और भ्रष्टाचार के आरोप लगाए गए थे। इन नेताओें में चांडी, उनके दो मंत्रियों और दो पूर्व केंद्रीय मंत्रियों का नाम शामिल था।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.