Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता शिवपाल यादव ने एक बार फिर गुपचुप रूप से सीएम योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की है। यह पिछले तीन माह के भीतर शिवपाल यादव की सीएम योगी से दूसरी मुलाकात है। वहीं अब इस मुलाकात ने चर्चाओं को गर्मा दिया और सपाइयों की बेचैनी बढ़ा दी है। कल दोनों नेताओं के बीच करीब आधे घंटे तक बंद कमरे में बातचीत हुई। पर सीएम आवास ने दोनों की मुलाकात पर कुछ भी बोलने से इनकार कर दिया है। हालांकि शिवपाल के करीबियों ने दोनों के बीच मुलाकात को लेकर खुलासा किया है।

हर कोई इस मुलाकात के अलग अलग मतलब निकाल रहा है। कहा जा रहा है कि इस मुलाकात के जरिए शिवपाल यादव ने रिवर फ्रंट घोटाले से अपने आप को बचाना चाहते हैं। तो वहीं बताया यह भी जा रहा है कि शिवपाल यादव ने रिवर फ्रंट घोटाले में उनका नाम आने के कारण  मुख्‍यमंत्री योगी से मिलकर सफाइ दी है।

वहीं  यह भी कयास लगाए जा रहें हैं कि शिवपाल यादव एनडीए उम्मीदवार रामनाथ कोविंद को अपना समर्थन दे सकते हैं। सूत्रों की मानें तो मुलायम सिंह यादव, शिवपाल सिंह यादव और कुछ अन्य सपा विधायक रामनाथ कोविंद को अपना वोट दे सकते हैं। गौरतलब है कि समाजवादी पार्टी के पास कुल पांच लोकसभा सांसद हैं, जिसमें मुलायम सिंह यादव भी शामिल हैं। जबकि चार अन्य सांसद अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव, धर्मेंद्र यादव, तेज प्रताप सिंह यादव और अक्षय यादव हैं, माना जा रहा है कि ये सभी सांसद अखिलेश यादव के खेमे के हैं।

इसी साल हुए विधानसभा चुनाव में पार्टी की करारी हार के बाद भी शिवपाल और अखिलेश के बीच अब तक सुलह के कोई संकेत देखने को नहीं मिले हैं। योगी आदित्‍यनाथ के मुख्‍यमंत्री बनने के बाद फौरन शिवपाल यादव ने उनसे आवास जाकर मुलाकात की थी।

अब दोनों के बीच हुई इस मुलाकात को वैसे तो शिष्टाचार बैठक बताई गई है, लेकिन ऐसा  माना जा रहा है कि शिवपाल यादव योगी के साथ मिलकर अखिलेश यादव पर दबाव बनाने की तैयारी में है। बरहाल कुछ भी हो पर इस गुपचुप मुलाकात से सपा कुनबे में एक बार फिर से बड़े भूचाल आने की कयास लगनी शुरू हो गई है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.