Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

लखनऊ पुलिस की लापरवाही से शनिवार तड़के एपल के सेल्स मैनेजर की मौत हो गई। पुलिसकर्मियों के इशारे पर मैनेजर ने गाड़ी नहीं रोकी तो सिपाही ने उस पर फायरिंग कर दी। गोली सीधे युवक के सिर में जा लगी, जिससे अमेरिकी मल्टीनैशनल कंपनी ऐपल के एरिया मैनेजर की जान चली गई। कार में मौजूद युवक के महिला मित्र की तहरीर पर पुलिस ने आरोपी सिपाहियों के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। वहीं, महिला मित्र को पुलिस ने नजरबंद कर दिया है। गोमतीनगर विस्तार में सीएमएस स्कूल के पास एक कार खड़ी थी। उसी दौरान पुलिस बाइक पर सवार होकर गोमतीनगर थाने में तैनात सिपाही प्रशांत चौधरी और एक अन्य सिपाही वहां पहुंचे।

दोनों ने कार में एक युवक और युवती को देखा तो मामला संदिग्ध समझ उनसे पूछताछ के लिए कार के पास पहुंचे। इतने में ही कार चला रहे मैनेजर विवेक तिवारी ने गाड़ी बढ़ा दी। आरोप है कि पुलिस ने रोकने का प्रयास किया तो युवक ने कार चढ़ाने की कोशिश की। इससे सिपाहियों को भी चोट आई और उनकी बाइक भी क्षतिग्रस्त हो गई। इस पर भी जब कार नहीं रुकी तो सिपाही प्रशांत चौधरी ने फायरिंग कर दी। गोली सीधे जाकर विवेक के सिर में लगी। कुछ दूरी पर गाड़ी एक दीवार से टकराकर रुक गई।

विवेक के साथ कार में बैठी उनकी कंपनी की ही कर्मचारी सना ने बताया कि विवेक के सिर से खून बहता देख उसने मदद के लिए गुहार लगाई। कुछ देर बाद पुलिस टीम मौके पर पहुंची। तत्काल विवेक को लोहिया अस्पताल ले जाया गया, जहां कुछ देर बाद उसने दम तोड़ दिया।  घटना की सूचना मिलते ही पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। आईजी, एसएसपी समेत तमाम आलाधिकारियों ने घटनास्थल का मुआयना किया है। सना की तहरीर पर आरोपी सिपाही प्रशांत चौधरी और संदीप के खिलाफ केस दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है। वहीं, घटना के करीब आठ घंटे बाद चोटिल हुए दोनों सिपाहियों का मेडिकल परीक्षण लोहिया अस्पताल में कराया गया। इस मामले में एसएसपी कलानिधि नैथानी ने कहा कि आरोपी पुलिसकर्मियों को गिरफ्तार कर उनसे पूछताछ की जा रही है।

मृतक की पत्नी ने पुलिस पर सवाल उठाते हुए इस मामले को मर्डर करार दिया है। विवेक की पत्नी कल्पना तिवारी ने कहा, ‘पुलिस मेरे पति को गोली कैसे मार सकती है। मैं यूपी के सीएम से मांग करती हूं कि वह आकर मेरी बात सुनें।’ उन्होंने बताया कि पति से रात में डेढ़ बजे उनकी बात हुई थी। उनकी जानकारी में था कि सना विवेक के साथ थीं। सीएम योगी आदित्यनाथ आएंगे तभी अंतिम संस्कार किया जाएगा। सब इंस्पेक्टर पद से रिटायर विवेक के चाचा ने कहा है कि अगर गाड़ी से टक्कर हुई भी तो गाड़ी के टायर या शरीर के निचले हिस्से पर गली चलानी चाहिए थी।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.