Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

दिल्ली के तुगलकाबाद में एक स्कूल के पास शनिवार सुबह एक कंटेनर से अचानक जहरीली गैस का रिसाव होने लगा। जहरीली गैस के रिसाव की खबर फैलते ही पूरे क्षेत्र में दहशत का माहौल बन गया। घटनास्थल के समीप रानी झांसी सर्वोदय कन्या विद्यालय था जिसकी 310 से ज्यादा छात्राएं इस जहरीली गैस के चपेट में आ गई। सभी पीड़ित छात्राओं को 4 अलग-अलग अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जानकारी के मुताबिक पीड़ित छात्राओं की संख्या में अभी तक इजाफा हो रहा है। दिल्ली पुलिस के मुताबिक एक छात्रा की हालत काफी नाजुक है।

एहतियात के तौर पर प्रशासन ने पूरे स्कूल को खाली करा लिया गया है। प्रशासन का दावा है कि 100 से अधिक बच्चियों को स्कूल से निकाला गया है। छात्राओं का हाल जानने के लिए उपराज्यरपाल अनिल बैजल अस्पताल पहुंचे। उन्होंने छात्राओं के परिजनों से बात की और हालात बेहतर होने का भरोसा दिलाया।

Poisonous gas leaks in Delhi, more than 300 school girl recruits in hospitalवहीं दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने भी घटना की पूरी जानकारी ली और प्रशासन समेत आपदा प्रबंधन की टीम को मौके पर पहुंचने का आदेश दिया। उप-मुख्यमंत्री ने भरोसा दिलाया कि सभी बच्चियों का बेहतर इलाज कराया जाएगा। साथ ही उन्होंने इस घटना के जांच के आदेश भी दे दिए।

अस्पताल में भर्ती पीड़ित छात्रा ने बताया कि सुबह सभी बच्चे रोजाना की तरह स्कूल आए और प्रार्थना के लिए गए तब तक सब ठीक था। जब बच्चे कक्षा में गए तब उन्हें किसी चीज की अजीब सी गंध आई और थोड़ी देर के बाद बच्चों के आंख में जलन होने लगी। कुछ समय के बाद टीचर्स ने भी जलन महसूस की और देखते ही देखते बच्चे बेहोस होने लगे। स्कूल प्रशासन ने तुरंत पुलिस को ख़बर दी जिसके बाद स्कूल समेत पूरे क्षेत्र को खाली कराया गया।

दिल्ली के तुगलकाबाद कंटेनर गैस लीक हादसा प्रशासन की लापरवाही का नतीजा हो सकता है। क्योंकि यहां बने एनसीआर के सबसे बड़े कंटेनर डिपो आईसीडी (इनलैंड कंटेनर डिपॉट) में 17 मार्च 2017 को 40 संदिग्ध कंटेनर आने की पुलिस को सूचना मिली थी। सूचना के बाद कई सुरक्षा एजेंसियां इन कंटेनर्स की जांच में जुट गई थीं और किसी प्रकार की अनहोनी से बचने के लिए एक दिन के लिए पूरे कंटेनर डिपो को बंद कर दिया गया था। मामले की जांच के लिए करीब 800 ट्रकों को डिपो परिसर में जाने से रोक दिया गया था। बाद में इन संदिग्ध ट्रकों के बारे में कोई जानकारी नहीं मिल पाई थी।

इस संबंध में खुफिया एजेंसियों को भी इनपुट मिला था कि इन कंटेनर्स से समुद्र के रास्ते भारी मात्रा में नकली नोटों को सप्लाई किया जाएगा। इसके अलावा यह सूचना भी थी कि कुछ कंटेनर्स में रेडियोएक्टिव पदार्थ लाया जा रहा है। हालांकि मामले की जांच के बारे में अधिकारियों ने बाद में मुह तक नहीं खोला था। आपको बता दें कि तुगलकाबाद आईसीडी कंटेनर डिपो देश के सबसे बड़े कंटेनर डिपो में से एक है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.