Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

अलीगढ़ में करीब 12 साल पहले कथित तौर पर ‘लव जिहाद‘ की शिकार एक युवती ने शनिवार को वैदिक रीति रिवाज से अपने मूल धर्म में वापसी की। हिन्दू महासभा के प्रवक्ता अशोक पांडेय ने बताया, कि 12 साल पहले वन्दना चौहान (30) ने धर्म परिवर्तन कर एक मुस्लिम युवक से विवाह किया था। हालांकि धोखे से बनाया गया संबंध ज्यादा दिनो तक नहीं चल सका और युवती ने दोबारा अपने मूल धर्म में वापसी की।

डॉ. पांडेय ने कहा कि वन्दना उर्फ सना शुक्रवार को उनके पास आई थी। युवती की आप बीती सुनकर उन्होने महासभा में महासचिव पत्नी पूजा पांडे के साथ एसएसपी से मुलाकात की और वन्दना की तहरीर पर सिविल लाइन्स थाने में जेठ जमशेद खां, देवर जिया शरीफ खां, ससुर मोहम्मद शरीफ खां, सास शहरबानों व पति शुएब शरीफ के खिलाफ शारीरिक उत्पीड़न, बलात्कार व धोखा देने की रिपोर्ट दर्ज करा दी है।

थाना सिविल लाइन्स के प्रभारी निरीक्षक जावेद खा ने पुष्टि करते हुए कहा, कि धारा 376, 420,504 ,506 व दहेज एक्ट के तहत रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है। बन्दना उर्फ सना की तहरीर में उल्लेख किया गया है कि शुएब करीब 12 वर्ष पहले कबीर चौहान बनकर हिन्दू रीति रिवाज से शादी करके अपने मकान सईदवाडा बाबरीमंडी में ले गया। जहां सास ससुर, ससुर, पति और जेठ ने बन्दना चौहान से नाम बदल कर सना शुएब करके मुस्लिम धर्म के अनुसार निकाह किया। जिसके बाद दो पुत्रों को जन्म दिया।

शादी करने के बाद से वह पति, ससुर, जेठ और देवर के उत्पीड़न की शिकार होती चली आ रही है। उसे विदेश में बेचने के लिए पासपोर्ट बनवा दिया गया है। उसका पति शुएब दूसरी शादी करना चाहता है जिसका विरोध किए जाने पर उसके कपड़े और जेवर छीनकर घर से निकाल दिया गया है।

 

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.