Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

जैसे जैसे मतदान की तारीख नजदीक आ रही है राजनीतिक पार्टियों और प्रत्याशियों की धड़कने तेज हो रही हैं। देश में 5 राज्यों में चुनाव हो रहे हैं लेकिन इन पांचों राज्यों में देश की नजर उत्तर प्रदेश के चुनाव पर टिकी है और हो भी क्यों न देश का सबसे बड़ा राज्य है उत्तर प्रदेश का चुनाव हर मायने में सबसे बड़ा चुनाव है उत्तरप्रदेश में 403 विधानसभा और 80 लोकसभा सेटों पर चुनाव होते हैं इसलिए सभी राजनीतिक पार्टियाँ पुरजोर लगा कर यहां अपनी दावेदारी मजबूत करना चाहती हैं।  पिछले कितने ही दिनों से चुनावी राज्यों में रैलियों का रेला लगा हुआ है। सभी पार्टी अपना दमखम दिखा रही हैं। एक शहर से दुसरे शहर, एक गाँव से दुसरे गाँव। रैलियों का शोर प्रदेश के चारों कोनों में सुनाई दे रहा हैं, लेकिन आज शाम 5 बजे के बाद 13 जिलों की 73 विधानसभा सीटों पर चुनावी  शोर के साथ  नेताओं की भागदौड़  शांत  हो जाएगी।

बता दें कि उत्तर प्रदेश राज्य में 11 फरवरी को पहले चरण का मतदान होना है और मतदान के ठीक 48 घंटे पहले किसी भी पार्टी को चुनावी राज्य में प्रचार प्रसार की अनुमति नहीं होती है। ये आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन माना जाता है।  अगर कोई भी पार्टी या प्रत्याशी इस नियम का उल्लंघन करता है तो उसके खिलाफ  लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 की धाराओं में कार्यवाही की जाएगी।

इस पूरे मामले पर जानकारी देते हुए मेरठ की  डीएम एवं जिला निर्वाचन अधिकारी बी. चन्द्रकला ने इन्ही नियमों को दोहराते हुए कहा कि शांतिपूर्ण चुनाव के लिए राज्यपाल ने 9 फरवरी शाम 5 बजे से 11 फरवरी शाम 5 बजे तक सभी शराब की दुकानों को बंद रखने का निर्देश दिया है, और मतदाताओं की सुविधा के लिए 11 फरवरी को सार्वजनिक छुट्टी घोषित की है। इससे पहले चुनाव आयोग ने भी अपनी कमर कस ली है इसी क्रम में मुख्य निर्वाचन आयुक्त डॉ नसीम जैदी कल से दो दिन के उत्तरप्रदेश दौरे पर हैं।

पहले चरण के चुनाव में बीजेपी बसपा रालोद के साथ कांग्रेस-सपा गठबंधन ने अपनी पूरी ताकत झोंक रखी है पहले चरण के चुनाव के बाद मायावती, कल्याण सिंह, जनरल वी के सिंह, अजीत चौधरी, जयंत चौधरी, संगीत सोम, रामवीर उपाध्याय, सुरेश राणा, जगदीश सिंह राणा, राजेन्द्र सिंह राणा, राजा महेंद्र अरिदमन सिंह, ठाकुर मूलचंद, ठाकुर जयवीर सिंह, सर्वेश सिंह, विमला सोलंकी, महावीर राणा, आशु मलिक, गेंदालाल चौधरी और प्रताप सिंह बघेल जैसे बड़े नामों की किस्मत ईवीएम में कैद हो जाएगी।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.