Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

उत्तरप्रदेश में हाल ही में पेट्रोल पम्पों पर चल रहे तेल के खेल से सम्बंधित खुलासे में पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। उत्तर प्रदेश एसटीएफ की सूचना पर ठाणे क्राईम ब्रांच की टीम ने कल्याण डोम्बिवली मानपाडा से सॉफ्टवेयर इंजिनियर विवेक शेटे और पुणे से अविनाश नाईक को गिरफ्तार किया है। ठाणे पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि पकड़े गए आरोपी विवेक हरीशचंद्र नाम के आरोपी की गिरफ्तारी डोम्बिवली से हुई है। वह चिप बनाने के काम में लगा था और पुणे से गिरफ्तार आरोपी अविनाश मनोहर नाईक रिमोट की सप्लाई करता था।

ठाणे में जिस विवेक हरीशचंद्र नाम के आरोपी की गिरफ्तारी हुई है वो चिप बनाने के काम में लगा था। उसके पास से 10 माइक्रो चिप के अलावा कई सामान मिले हैं।  इसी चिप को मशीनों में फिट किया जाता था। इसके अलावा 21 आरएक्स रिसिवर, 24 रिमोट, 14 डिस्पले बोर्ड, एक लैपटॉप, एक प्रोग्रामर और कई अन्य सामान भी बरामद किए हैं। पुणे से गिरफ्तार आरोपी अविनाश मनोहर नाईक रिमोट की सप्लाई करता था। उसके पास से 177 रिमोट के अलावा 189 आरएख्स रिसिवर, एक लैपटॉप और 50 रिमोट सेल भी बरामद हुए हैं।

दरअसल पिछले दिनों यूपी एसटीएफ की टीम ने लखनऊ और मुरादाबाद सहित कई शहरों के करीब एक दर्जन से ज्यादा पेट्रोल पंपों पर छापा मारा था। जांच में पता चला था कि इसके इलेक्ट्रॉनिक्स किट का सॉफ्टवेयर और रिमोट महाराष्ट्र के मुंबई से भेजे जाते हैं।

तेल के इस खेल का खुलासा तब हुआ था जब यूपी पुलिस ने राज्य के कई जिलों के पेट्रोल पम्पों पर छापा मार कर इसका उद्भेदन किया था। इन पेट्रोल पंपों पर ग्राहकों से पैसे पूरे लिये जाते थे, लेकिन पेट्रोल कम दिया जाता था। इस छापेमारी में यह भी खुलासा हुआ था कि पेट्रोल पंप 1 लीटर यानी 1 हजार मिलीलीटर पेट्रोल का पैसा लेते थे और पेट्रोल सिर्फ 950 मिलीलीटर देते थे पेट्रोल की कीमत करीब 70 रू प्रति लीटर है तो एक लीटर पर करीब साढ़े तीन रूपए की चोरी पेट्रोल पंप मालिकों द्वारा की जा रही थी।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.