Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

एंटी रोमियो स्क्वाड के गठन के साथ ही शुरू हुई राजनीति पर विपक्ष की जुबान बंद करने के लिए सरकार की तरफ से आंकड़ा जारी कर शोहदों की शामत का रिकार्ड पेश किया गया है। जिसके तहत एंटी रोमियो स्क्वाड के रडार पर अब तक लाखों शोहदे आ चुके हैं। जिसमें से 538 लोगों पर एफआईआर दर्ज करने के साथ – साथ 1264 लोगों पर अलग अलग कानूनों के तहत कार्रवाई भी की गयी है।

उत्तर प्रदेश में 19 मार्च को शपथ ग्रहण के बाद 22 मार्च को शोहदों पर नकेल कसने के लिए गठित किये गये एंटी रोम्यो स्क्वाड के नाम को लेकर भले ही जमकर राजनीति हुई हो लेकिन सरकार की तरफ से दी गयी जानकारी के मुताबिक 28 मई तक स्क्वाड ने साढ़े सात लाख लोगों की सघन पड़ताल की है। जिसमें करीब साढ़े 3 लाख शोहदों को रडार पर रखते हुए स्क्वाड ने चेतावनी देकर फिलहाल सुधरने का मौका दिया है।

आपको बता दे कि एंटी रोमियो स्क्वाड ने प्रदेश के सभी आठ पुलिस जोन में 7.42 लाख से अधिक लोगों को सार्वजनिक स्थानों पार्कों स्कूल कालेजों के आस पास से सघन चेंकिग की है। इस दौरान सबसे ज्यादा मेरठ में 190874 लोगों की चेंकिग की गयी। जिसको लेकर नयी सरकार अब अपनी पीठ भी थपथपा रही है।

राज्य सरकार की तरफ से जारी किये गये आकड़ों में यह तथ्य सामने आया है कि सबसे ज्यादा गोरखपुर के रोमियो पर ही पुलिस की चाबुक चली है। आकड़ों की मानें तो गोरखपुर जोन में शोहदों व असमाजिक तत्वों पर सबसे ज्यादा कार्रवाई की गयी। जिसमें 341 मुकदमें दर्ज किये गये और 816 लोगों पर कार्रवाई भी की गयी। सबसे कम 11 मुकदमें मेरठ जोन में दर्ज किये गये और 110 के खिलाफ कार्रवाई की गयी। इलाहाबाद जोन में 27 मुकदमें और 11 लोगों पर कार्रवाई की गई। इसके अलावा आगरा जोन में 37 मुकदमें और 55 पर कार्रवाई , बरेली जोन में 32 मुकदमें और 43 पर कार्रवाई ,कानपुर जोन में 36 मुकदमें और 49 पर कार्रवाई की गई। इस दौरान सबसे कम लखनऊ में 19 मुकदमें और 40 लोगों पर कार्रवाई हुई जबकि वाराणसी जोन में 35 मुकदमें दर्ज हुए और 40 लोगों के खिलाफ कार्रवाई की गयी है।

इन आंकड़ों के अनुसार राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गढ़ गोरखपुर में सबसे ज्यादा शोहदों की शामत आयी है। हालांकि विपक्ष एंटी रोमियो स्क्वाड और इसके कम करने के तरीके पर लगातार सवाल उठाता रहा है और इसे मौलिक अधिकारों के हनन की संज्ञा देता रहा है ।

जानकारी के मुताबिक बीते दो महीनों में स्कवाड ने 538 लोगों पर एफआईआर दर्ज कर 1246 लोगों पर विभिन्न कानूनों के तहत कार्रवाई की है। सरकार ने अपनी ओर से आंकड़ा जारी कर यह तो साबित कर दिया कि रोमियो अब सरकार की गिरफ्त से दूर नही लेकिन मनचलों के नाम पर अभिव्यक्ति की आजादी का हनन न हो इसके लिए स्क्वाड टीम को अपने आचरण में सुधार करना होगा इसमें भी कोई दो राय नही है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.