Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

मोदी सरकार की क्षत्र छाया में देश के सबसे बड़े सूबे में योगी सरकार बनी। जिसके बाद सीएम योगी एक के बाद एक बड़े फैसले लेकर उत्तर प्रदेश की जनता से किया वादा पूरा करना चाहते है। भारतीय जनता पार्टी की यूपी में भारी बहुमत से जीत की बड़ी वजह उनके द्वारा यूपी की कानून व्यवस्था पर उठाया गया सवाल था। अब सूबे में बीजेपी सरकार है, ऐसे में वहां की कानून व्यवस्था को चुस्त-दुरुस्त करने के लिए योगी सरकार प्रशासनिक अधिकारियों के तबादले करने में लगी है। अखिलेश सरकार में भी अफसरों के तबादले हुए थे लेकिन जानकारों की मानें तो वो तबादले सपा परिवार में हो रहे आपसी कलह का नतीजा थे। यूपी में कुल 407 आईपीएस अधिकारी है। सपा सरकार में कुल 2454 बार अधिकारियों के तबादले किए गए। इनमें सबसे ज्यादा तबादला पी.के मिश्रा का हुआ।

एक आंकड़ों के मुताबिक उत्तर प्रदेश में औसतन 27.3 प्रतिशत तबादले होते है। अब ट्रांसफर की प्रकिया योगी सरकार ने भी शुरु कर दी है। हालांकि योगी सरकार में कोई कलह नहीं है। वह जनता से किए अपने वादे को पूरा करने की तरफ कदम उठा रहे है। यूपी की कानून व्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए योगी सरकार ने 4 आईएएस और 14 डीएसपी अधिकारियों के तबादले किए है।

तबादले वाले 4 आईएएस अधिकारी:-

तबादले वाले 14 डीएसपी अधिकारी:-

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.