Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

8 मार्च को पूरे विश्व में अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस मनाया जाता है, इसलिए आज भारत समेत पूरे विश्व में नारी के इस खास दिन को धूमधाम से मनाया जा रहा है। महिला दिवस को विश्व भर में महिलाओं के प्रति सम्मान, प्रशंसा और प्यार उनमें आर्थिक, राजनीतिक, शिक्षित और सामाजिक बदलाव के उत्सव के तौर पर मनाया जाता है। महिला दिवस का दिन लोगों को याद दिलाता है कि कैसे सभी विषम परिस्थितियों से लड़ते हुए महिलाओं ने हर क्षेत्र में सफलता हासिल की है और अभी भी कर रही हैं। भारत में भी महिलाओं के लिए ढ़ेरों जागरूकता अभियान चलाए जा रहे हैं। हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महिलाओं को आगे बढ़ाने के लिए बहुत सारी योजनाएं लॉन्च की हैं इसके अलावा बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ की मुहिम ने भी देश भर में बेटी को बचाने और उसे शिक्षित बनाकर उसे ऊंचा मुकाम हासिल कराने की बात को घर-घर तक पहुंचाया है और लोगों ने इस मुहिम पर अमल भी किया है।

APN with women on Women's Day - 1महिला दिवस के इस खास अवसर पर हमारे न्यूज़ चैनल एपीएन ने भी एक खास शो आधी आबादी की आवाज़ में यूपी की महिलाओं से बात की और उनसे समाज में महिलाओं के प्रति हो रहे बदलाव, महिलाओं की समस्याओं, राजनीतिक लाभ जैसी चीज़ों के बारे में बात की। जहां महिलाओं ने बदलते जमाने के बारे में बात करते हुए कहा कि अब पहले की तुलना में महिलाओं पर अत्याचार होना कम हो गया है। गांव की महिलाओं ने बताया कि अब ज्यादातर लोग बेटियों को बेटे के समान ही मानते है, बेटियों को भी पढ़ने-लिखने और आगे बढ़ने का उतना ही मौका मिलता है जितना कि बेटों को वहीं दूसरी ओर महिलाओं ने अपनी परेशानियों से भी रू-ब-रू कराया। उन्होंने बताया कि आज भी कई क्षेत्र ऐसे है जहां महिलाएं शाम होने के बाद घर से निकालना नहीं चाहती। इसके अलावा कई गांव ऐसे है जहां आज भी महिलाओं को दहेज उत्पीड़न का शिकार होना पड़ता है।

एपीएन की इस महिला दिवस के अवसर पर यूपी की महिलाओं से खास बातचीत से पता चला कि 21वीं शताब्दी में भारत में महिलाओं के प्रति बदलाव हुआ है, वे भी पुरूषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर देश को आगे बढ़ाने में लगी हुई हैं लेकिन फिर भी कई क्षेत्र ऐसे है जिनमें अभी बदलाव होना बाकी है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.