Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

NEW DELHI: कश्मीर से धारा-370 हटने के बाद घाटी में तो शांति है लेकिन पाकिस्तान परेशान है। उसने कई देशों के सामने मदद की भीख मांगी लेकिन एक भी देश ने उसका साथ नहीं दिया। यहां तक की चीन ने पाकिस्तान से पल्ला झाड़ लिया। पाकिस्तान ने इस मसले को UN ले जाने की कोशिश की लेकिन इसमें भी पाकिस्तान सफल नहीं हो पाया और उसकी हवा निकल गई।

कश्मीर से धारा-370 हटाने को रूस समेत कई बड़े देशों ने इसे भारत का आंतरिक मामला बताया है। वहीं मालदीव सरकार ने भी भारत का साथ दिया था। उन्होंने अनुच्छेद 370 हटाने को भारत का आंतरिक मामला कहा था।

बांग्लादेश का कहना है कि धारा 370 को हटाना भारत का आंतरिक मामला है, ऐसे में इसके बीच कोई और देश दखल नहीं दे सकता। भारत को जो करना है वो उसका हक है। श्रीलंका ने भी भारत का साथ दिया है। वहीं UAE का कहना है कि हमें उम्मीद हैं कि ये बदलाव सामाजिक न्याय को बेहतर करेंगे और लोगों का सरकार पर विश्वास और ज्यादा बढ़ेगा।

रूस ने कहा है कि कश्मीर से धारा 370 हटाना भारतीय संविधान के दायरे में है और उसने उम्मीद जताई कि भारत और पाकिस्तान आपसी मतभेदों को शिमला समझौते के आधार पर सुलाएंगे। US ने भी साफ कहा है कि कश्मीर पर उसकी नीति में कोई बदलाव नहीं है। भारत पाकिस्तान इस मसले को आपसी सहमति से सुलझाए। हम बीच में नहीं आएंगे।

ब्रिटेन भी इस मसले के बीच में नहीं पड़ता चाहता है। ब्रिटेन का कहना है कि आपसी बातचीत से इस मसले का समाधान जल्दी निकल जाएगा। चीन भले ही पाकिस्तान को अपना दोस्त कहता हो लेकिन कश्मीर मुद्दे पर चीन ने पाकिस्तान का साथ नहीं दिया है। इसके बाद पाकिस्तान को बहुत गहरा सदमा लगा था और पाकिस्तान ईरान के पास मदद मांगने गया था।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.