Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) और केंद्रीय सामाजिक न्याय व अधिकारिता मंत्रालय की ओर से किए साझा सर्वेक्षण में जानकारी मिली है कि वर्तमान समय में देश में 10 से 75 साल की उम्र के 16 करोड़ लोग शराब पीते हैं।

यह कुल आबादी का 14.6 फीसद है, जिसमें से 5.7 करोड़ लोग शराब की लत के कारण गंभीर सेहत संबंधी परेशानियों का सामना कर रहे हैं। महिलाओं के मुकाबले 17 गुना अधिक पुरुष शराब पीते हैं। छत्तीसगढ़, पंजाब, त्रिपुरा, अरुणाचल प्रदेश व गोवा में शराब का सर्वाधिक इस्तेमाल होता है। यह अध्ययन एम्स के राष्ट्रीय नशामुक्ति केंद्र के डॉ अतुल अंबेकर की अगुआई में किया गया, जिसकी रिपोर्ट सोमवार को जारी की गई।

सरकार की ओर से कराए गए इस सर्वेक्षण के मुताबिक, शराब के बाद देशभर में भांग, कोकीन और अन्य नशीले पदार्थों का सर्वाधिक इस्तेमाल होता है। शराब पर निर्भर 38 लोगों में से किसी एक ने किसी न किसी उपचार की सूचना दी, जबकि 180 में से एक ने रोगी के तौर पर या अस्पताल में भर्ती होने की जानकारी दी। हर तीसरा शराब पीने वाला इसकी लत का शिकार है।

यह सर्वेक्षण सभी 29 राज्यों और सात केंद्र शासित प्रदेशों में किया गया। इसमें कहा गया है कि राष्ट्रीय स्तर पर 186 जिलों के 2,00,111 घरों से संपर्क किया गया और 473569 लोगों से इस बारे में बातचीत की गई।

इस रिपोर्ट को जारी करते हुए केंद्रीय मंत्री थावरचंद गहलोत ने कहा कि अपनी तरह की इस पहली रिपोर्ट के आधार पर देशभर में नशामुक्ति के लिए दिशानिर्देश तैयार किए जाएंगे, जिसके आधार पर इन चुनौतियों से निपटा जाएगा।

उन्होंने कहा कि एक साल में किए गए इस सर्वे में पता चला कि पिछले 12 महीनों में लगभग 2.8 फीसद (लगभग तीन करोड़ एक लाख) लोगों ने भांग या अन्य नशीले उत्पादों का इस्तेमाल किया। सिक्किम व पंजाब में इसकी सबसे ज्यादा खपत होती है, जो राष्ट्रीय औसत से तीन गुना अधिक है।

दिल्ली, उत्तर प्रदेश व छत्तीसगढ़ में भी यह इस्तेमाल किया जाता है। राष्ट्रीय स्तर पर जिन अन्य नशीले पदार्थों का इस्तेमाल होता है, उसमें सबसे अधिक 1.14 फीसद लोग हेरोइन का सेवन करते हैं। इसके बाद एक फीसद से कुछ कम लोग नशीली दवाओं का सेवन करते हैं, जबकि आधे फीसद से कुछ अधिक लोग अफीम खाते हैं।

वहीं चिंताजनक पहलू यह भी है कि नशे की दवा व अफीम से ज्यादा लोग हेरोइन का इस्तेमाल करते हैं। नशे के आदी लोगों में सबसे ज्यादा महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, आंध्र प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली व गुजरात में हैं।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.