Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

New Delhi : दोस्तों के लिए दिलदार दुश्मन के लिए तलवार हैं हम, भारतीय सेना के भी ऐसे ही दो रूप हैं, जो दुश्मनों के लिए तलवार हैं तो जरूरतमंदों के लिए भगवान से कम नहीं। नेपाल का भूकंप से लेकर उत्तराखंड की भीषण तबाही में हमने भारतीय सेना को एक ऐसा मसीहा बनते देखा है जिसने लोगों की जान बचायी है। ताजा मामला भी ऐसा ही है जिसमें CRPF के जवानों ने एक घा’यल व्यक्ति को अपने कंधें पर उठाकर 2.5 किमी तक का लम्बा सफर करके अस्पताल पहुंचाया।

यहा घटना छत्तीसगढ़ के बीजापुर का है, जहां पुस्कुंता नाम के एक व्यक्ति को सांप ने काट लिया था। और उस व्यक्ति का घर ऐसे जगह पर था जहां पर सड़कों की खराब हालत के कारण एंबुलेंस भी नहीं पंहुच सकता था। ऐसे में सीआरपीएफ के जवानों ने पुस्कुंता को अपने कंधे पे उठा कर लगभग 2.5 किमी का सफर तय करके अस्पताल पंहुचाया। अब उस आदमी की हालत स्थिर बताई जा रही है। गौरतलब है कि उसकी पत्नी की 2 महीने पहले सर्पदंश के कारण मृत्यु हो गई थी।

आपको बता दें कि कुछ दिनों पहले भी छत्तीसगढ़ के बीजापुर एक ऐसा ही मामला सामने आय़ा था। जहां हादसे का शिकार हुए एक युवक को अपने कंधों में लेकर CRPF कोबरा कमांडो के जवानों ने तपती धूम में पांच किमी लंबा सफर पैदल तय किया था। CRPF के जवानों की इस कोशिश के चलते इस घायल युवक सही समय पर बीजापुर के जिला अस्पथताल इलाज में भर्ती कराया जा सका था।

देश के नक्सल प्रभावित राज्यों में सुरक्षा व्यवस्था का जिम्मा CRPF के जवान ही संभालते हैं। CRPF का गठन 27 जुलाई 1939 को किया गया था, यह 28 दिसंबर 1949 को के. रि. पु. बल के कानून के लागू होने पर केन्द्री य रिजर्व पुलिस बल बन गया। इसके गौरवशाली इतिहास के 78 वर्ष पूरे हो गए हैं।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.