Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

कर्नाटक विधानसभा में बजट 2019-20 पेश करने से पहले मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राज्य बीजेपी अध्यक्ष बीएस येदियुरप्पा पर जमकर निशाना साधा है।

कुमारस्वामी ने पीएम पर ‘दो चेहरे’ रखने का आरोप लगाते हुए कहा कि एक ओर वह नागरिकों और राजनेताओं को बताते हैं कि कैसे व्यवहार करना चाहिए और दूसरी ओर अपने दोस्तों को कालेधन के जरिए लोकतंत्र को गिराने के लिए प्रेरित कर रहे हैं।

सीएम कुमारस्वामी ने एक ऑडियो क्लिप भी जारी की जिसमें येदियुरप्पा कथित तौर पर जेडी (एस) विधायक के लिए ‘ऑफर’ दे रहे हैं। कुमारस्वामी ने कहा कि वह सच सामने लेकर आएंगे और उनके पास उनके आरोपों को साबित करने के लिए सबूत हैं।

पीएम पर सीधे निशाना साधते हुए उन्होंने कहा, ‘वह देश के लोकतंत्र को ध्वस्त करने की कोशिश कर रहे हैं, लोगों को गुमराह कर रहे हैं। मैं विपक्षी दलों से अपील करता हूं कि आगे आए हैं। उन्हें संसद में प्रधानमंत्री का सच सामने लाना चाहिए। एक ओर वह खुद को देश के मसीहा के तौर पर पेश कर रहे हैं जिसने भष्ट्राचार खत्म कर दिया और दूसरी ओर अपने दोस्तों और साथियों को बढ़ावा दे रहे हैं।’

कुमारस्वामी ने ऑडियो क्लिप जारी की जिसमें कथित तौर पर येदियुरप्पा जेडी(एस) विधायक के बेटे को अपने पिता बीजेपी जॉइन करने के लिए मनाने के बदले ऑफर दे रहे हैं।

कुमारस्वामी ने कहा है कि पीएम की जानकारी के बिना येदियुरप्पा ऐसा नहीं कर सकते। यह कथित बातचीत जेडी(एस) विधायक नगन्नगौड़ा के बेटे शरन और येदियुरप्पा के बीच है। इसमें उन्होंने विधायक को 25 लाख रुपये और मंत्री पद ऑफर किया है।

वहीं इससे पहले कुमारस्वामी ने किसानों की कर्जमाफी को लेकर लोकसभा में पीएम मोदी द्वारा पेश किए गए दावों का भी जवाब दिया है।

उन्होंने प्रधानमंत्री के आरोपों का जवाब तथ्यों के साथ दिया। उन्होंने ट्वीट कर दावा किया कि अभी तक 1900 करोड़ रुपये करीब 4 लाख किसानों को दिए जा चुके हैं। फरवरी तक सभी किसानों को कर्ज माफी की पहली किस्त मिल जाएगी। उन्होंने इसकी पूरी जानकारी जानने के लिए एक लिंक भी साझा किया। कुमारस्वामी ने लिखा कि नरेंद्र मोदी लोकतंत्र के मंदिर से देश को गुमराह कर रहे हैं।

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि ‘कर्नाटक सरकार ने किसानों का कर्ज माफ करने का ऐलान किया था, 43 लाख लोगों को इसका फायदा मिलना चाहिए था लेकिन सिर्फ 60 हजार किसानों का कर्ज माफ हुआ। मध्य प्रदेश और राजस्थान में 10 दिन में कर्जमाफी का दावा किया गया था लेकिन वहां अभी कागज ही तैयार नहीं है।’

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.