Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

आजकल सोशल मीडिया ही बड़े शख्सियतों को आम लोगों से जोड़ता है। सोशल मीडिया खासकर ट्विटर नेताओं, अभिनेताओं और अन्य लोगों में खासा लोकप्रिय है। यह जनता से संवाद का सबसे बड़ा ज़रिया बन गया है।

राजनीतिक पार्टियों और नेताओं के एकाउंट से क्‍या पोस्‍ट किया जा रहा है, इस पर लोगों की बारीक निगाहे होती हैं। कौन किसे फॉलो कर रहा है और कौन किसे अनफॉलो यह भी एक खबर बन जाता है क्योंकि इससे उस राजनेता के रूख का भी पता चलता है। हाल ही में कांग्रेस छोड़ने वाले गुजरात कांग्रेस के नेता शंकर सिंह बाघेला ने ट्विटर पर राहुल गांधी को अनफॉलो कर दिया था।

रविवार दोपहर कांग्रेस खेमे में उस समय खलबली मच गई जब कांग्रेस के दो वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल और पी चिदंबरम ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को अनफॉलो कर दिया। अस्तित्व और राजनीतिक संकट से जूझ रही कांग्रेस के लिए निश्चित रूप से यह एक झटका देने वाला खबर था। तुरंत ही सोशल मीडिया पर यह खबर फैलने लगी कि ये दोनों बड़े नेता कांग्रेस छोड़ सकते हैं।

हालांकि विवाद बढ़ता देख दोनों नेताओं ने सफाई दी और कहा कि तकनीकी गड़बड़ी की वजह से ऐसा हुआ था। कपिल सिब्बल ने कहा कि उनके आईपैड में कुछ तकनीकी खामी आ गई थी जिसकी वजह से ऐसा हुआ। जबकि चिदंबरम का कहना था कि उनके निर्देशन में उनका पीए ट्विटर चलाता है जिससे गलती से ऐसा हो गया। बाद में दोनों ने राहुल और कांग्रेस के आधिकारिक एकाउंट को ट्विटर पर फॉलो कर लिया। आपको बता दें कि एक अन्य वरिष्ठ कांग्रेसी नेता जयराम रमेश ट्विटर पर राहुल गांधी को नहीं फॉलो करते हैं।

फॉलो करने के दौरान कपिल सिब्बल से फिर से एक गलती हो गई। उन्होंने कांग्रेस के एक ऐसे एकाउंट को फॉलो किया जो पार्टी का सत्यापित अकाउंट नहीं था। हालांकि बाद में उन्होंने इस गलती को भी दुरुस्त कर लिया।

गौरतलब है कि वर्तमान समय में कांग्रेस अस्तित्व के संकट से जूझ रहा है। उसके छोटे से लेकर बड़े नेता देश के इस सबसे पुराने दल का साथ छोड़ रहे हैं। पिछले शुक्रवार ही लंबे समय तक कांग्रेस के वॉर रूम और राहुल गांधी के रणनीतिकार रहे आशीष कुलकर्णी ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया था। उन्होंने कांग्रेस पर ‘भाई-भतीजावाद’ और ‘सामंतवाद’ जैसे आरोप लगाये थे। कल ही हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपिंदर सिंह हुड्डा के भी पार्टी से इस्तीफे की खबर आई थी, जिससे बाद में उन्होंने इंकार किया था।

इसलिए जब भी कुछ ऐसी खबर उड़ती है तो कांग्रेस का जान सूख जाता है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.