Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

सुप्रीम कोर्ट CBI जज बृजगोपाल लोया की साल 2014 में संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत की स्वतंत्र जांच के लिए दायर अर्जी पर सुनवाई के लिए तैयार हो गया है। कोर्ट शुक्रवार को इस पर सुनवाई करेगा। जज लोया अपनी मौत से पहले सोहराबुद्दीन शेख़ मुठभेड़ केस की सुनवाई कर रहे थे जिसमें बीजेपी के मौजूदा अध्यक्ष अमित शाह अभियुक्त थे। लोया के बाद आने वाले CBI जज ने अमित शाह को बरी कर दिया था।

महाराष्ट्र के एक पत्रकार बंधुराज संभाजी लोने ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर जज लोया की मौत की स्वतंत्र जांच की मांग की है। इससे पहले पंजाब – हरियाणा हाईकोर्ट बार के 470 सदस्यों ने भी सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस को पत्र लिखकर जज बी एच लोया की मौत की जांच की मांग की थी। इन वकीलों ने लोया की संदिग्ध मौत की जांच CBI या SIT से कराने की मांग की है। इस मामले को लेकर एक आपराधिक रिट याचिका बॉम्बे हाईकोर्ट की नागपुर बेंच में भी दाखिल की गई है जबकि पूर्व नौसेना प्रमुख एडमिरल एल रामदास ने भी चीफ जस्टिस को पत्र लिखकर मामले की न्यायिक जांच की मांग की है। रिटायर्ड जस्टिस बीएच मार्लापल्ली ने जज लोया की मौत की जांच SIT से कराने की मांग की है।

गौरतलब है कि 2005 में सोहराबुद्दीन शेख और उसकी पत्नी कौसर बी को गुजरात पुलिस ने हैदराबाद से अगवा किया। आरोप लगा कि दोनों को फर्जी मुठभेड में मार डाला गया। सोहराबुद्दी शेख के साथी तुलसीराम प्रजापति को भी 2006 में गुजरात पुलिस ने मार डाला। उसे सोहराबुद्दीन मुठभेड का गवाह माना जा रहा था। 2012 में सुप्रीम कोर्ट ने ट्रायल को महाराष्ट्र में ट्रांसफर कर दिया। शुरुआत में जज जेटी उत्पत इस केस की सुनवाई कर रहे थे लेकिन आरोपी अमित शाह के पेश ना होने पर नाराजगी जाहिर करने पर अचानक उनका तबादला कर दिया गया। फिर केस की सुनवाई जज बी एच लोया ने की और नवंबर 2014 में  नागुपर में उनकी मौत हो गई और उनकी मौत की वजह हार्टअटैक बताया गया।

लेकिन इस पूरे मामले पर पिछले दिनों मीडिया में जज लोया की बहन के खुलासे के बाद लगातार इस मामले की जांच की बात उठ रही है। जज लोया की बहन ने बताया कि सोहराबुद्दीन मामले में एक खास पक्ष में फैसला देने के लिए जज लोया को 100 करोड़ रुपये और मुंबई में एक घर देने की पेशकश की गई थी जिसे उन्होंने ठुकरा दिया था। इसके बाद उनकी संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.