Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज पश्चिम बंगाल के बुनियादपुर में एक चुनावी जनसभा को संबोधित किया। इस दौरान राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर करारा हमला बोला। पीएम ने ममता को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि स्पीड ब्रेकर दीदी को अब 23 मई के बाद समझ आ जाएगा कि जनता के साथ गुंडागर्दी करने, उनका पैसा लूटने, उनका विकास रोकने का नतीजा क्या होता है।

मोदी ने कहा, ममता कहती हैं कि पश्चिम बंगाल का यह मॉडल पूरे देश में लागू करना चाहती हैं। अरे जहां टोला बाजी, टैक्स के बगैर जीवन नहीं चलता, जहां गरीबों को गरीब रखने का षड्यंत्र होता है। जहां गरीब की कमाई को टीएमसी के नेता लूट लेते हैं, जहां पर पूजा तक करना मुश्किल होता है, यात्राएं निकालना मुश्किल होता है, जहां तुष्टिकरण के लिए दूसरे देशों के लोगों को बुलाकर चुनाव प्रचार करवाया जाता है, क्या कभी हिंदुस्तान में ऐसा हुआ है कि दुनिया के किसी देश के लोग भारत में चुनाव प्रचार करें।

उन्होंने कहा कि पूरा देश कह रहा है कि इस बार पश्चिम बंगाल में कुछ बड़ा हो रहा है। इस बार वाकई राज्य के लोगों ने बदलाव की ठान ली है। अपनी तिजोरी भरने के लिए, अपने वोट बैंक के लिए दीदी किसी भी हद तक जाने के लिए तैयार हैं। साथियों ऐसा मॉडल देश के लिए तो दूर पश्चिम बंगाल के लिए भी मंजूर नहीं है।’

पीएम ने कहा, ‘मैं मीडिया में देख रहा था कि कैसे सामान्य लोगों ने, हमारी बहनों ने टीएमसी के गुंडों को सबक सिखाया। उनकी लाखों कोशिशों के बावजूद भारी संख्या में किसान, मजदूर, व्यापारी, कर्मचारी, हमारी माताएं-बहनें, हमारे नौजवान साथी वोट देने के लिए निकल पड़े। बंगाल में पहले और दूसरे चरण में मतदान की जो रिपोर्ट आई है उसने स्पीड ब्रेकर दीदी की नींद पर भी ब्रेक लगा दिया है।’

नरेंद्र मोदी ने जनसभा में मौजूद लोगों से पूछा, ‘पश्चिम बंगाल में धमकी, लूट और भ्रष्टाचार का यह खेल ऐसे ही चलते रहना चाहिए क्या? क्या स्पीड ब्रेकर दीदी को कड़ी सजी मिलनी चाहिए की नहीं मिलनी चाहिए? कड़ी से कड़ी सजा दोगे? हिम्मत के साथ दोगे? पूरे बंगाल में दोगे? हर गली-मोहल्ले में दोगे? मुझे पूरा भरोसा है आप पर, मैं यह पहले और दूसरे चरण में देख चुका हूं।’

पीएम मोदी ने कहा, ‘ममता दीदी ने जो पश्चिम बंगाल में किया है उसके लिए उन्हें न तो इतिहास माफ करेगा और न ही भविष्य माफ करेगा। उन्होंने आपकी मां, माटी और मानुष के नाम पर सिर्फ धोखा दिया। यह गलती सिर्फ आपने नहीं की, मैंने भी की। जब भी उन्हें मैं टीवी पर देखता था, कभी देखता था तो लगता था कि सचमुच में सादगी की मूर्ति हैं, मेहनत करती हैं, बंगाल का भला चाहती हैं, लेफ्टिस्टों से बंगाल को मुक्ति दिलाना चाहती हैं, मैं भी ऐसा मानता था लेकिन प्रधानमंत्री बनने के बाद जब मैंने उनके कारनामे देखे तो मेरा माथा शर्म से झुक गया। अब मैं भी उनको पहचान गया हूं।’

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.