Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

लोकसभा चुनाव 2019 के बाद हुए एग्जिट पोल्स में NDA को बहुमत मिलने के अनुमान के बाद मंगलवार को पीएम मोदी ने एनडीए के नेताओं के साथ डिनर किया। इस रात्रिभोज में एनडीए में शामिल सभी दलों ने पीएम मोदी पर भरोसा जताया है। वहीं बैठक में पीएम मोदी ने ईवीएम को लेकर विपक्ष के हंगामे को गैरजरूरी विवाद कहा है। वहीं एनडीए दलों के साथ इस बैठक में एक प्रस्ताव भी पारित किया गया।

प्रस्ताव के बारे में जानकारी देते हुए गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने बताया कि पिछले 5 साल लोगों की बुनियादी जरूरतों को पूरे करने वाले थे, अब NDA ने तय किया है कि आनेवाले 5 वर्षों में लोगों की आकांक्षाओं को पूरा किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि पीएम ने बैठक में कहा कि देश को जात-पात, ऊंच-नीच के नैरेटिव से बाहर आना होगा और गरीब ही सबसे बड़ी जाति है, हमें उसी समस्या का समाधान करना है। राजनाथ सिंह ने बताया कि प्रधानमंत्री ने नए भारत के निर्माण को लक्ष्य बताते हुए गरीबी को ही सबसे बड़ी जाति करार दिया।

एनडीए नेताओं ने उम्मीद जाहिर की कि एग्जिट पोल की तरह ही 23 मई को मतगणना के बाद केंद्र में बीजेपी के नेतृत्व में मजबूत सरकार बनेगी।

एनडीए के घटक दलों की बैठक में इस बात पर भी चिंता व्यक्त की गई कि ईवीएम को लेकर विपक्ष की तरफ से अनावश्यक मुद्दा उठाया जा रहा है।

पीएम मोदी ने इस बैठक में कई विमर्श (नैरेटिव) बदलने की बात कही। उन्होंने कहा कि गरीबी ही सबसे बड़ी समस्या है। एनडीए के सभी नेताओं ने इस बैठक में प्रधानमंत्री के विजन और उनके नेतृत्व की तारीफ की।

आपको बता दें कि एनडीए दलों के साथ डिनर से पहले पीएम मोदी ने बीजेपी मुख्यालय में आयोजित अपने मंत्रिपरिषद के सदस्यों के लिए आयोजित ‘स्वागत व आभार मिलन समारोह’ में अपने सहयोगी मंत्रियों को संबोधित किया।

पीएम मोदी ने कहा कि मैंने कई विधानसभा चुनाव और पिछले लोक सभा चुनाव में प्रचार अभियान में हिस्सा लिया है। इस दौरान देशभर का दौरा भी किया, इस बार का चुनाव प्रचार मुझे ऐसा लगा कि जैसे तीर्थयात्रा हो। उन्होंने राष्ट्र निर्माण के लिए एनडीए के एकजुट होकर काम करने पर जोर दिया।

पीएम मोदी ने कहा, ‘’मैंने कई चुनाव देखे हैं लेकिन यह चुनाव राजनीति से परे है। इस चुनाव को जनता तमाम तरह की दीवारों को लांघ कर लड़ रही थी।

बता दें कि दिल्ली के पांच सितारा होटल में आयोजित भोज में  बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे, अकाली दल के प्रमुख प्रकाश सिंह बादल, अन्नाद्रमुक नेता ई पलानीसामी, लोजपा नेता राम विलास पासवान, रामदास आठवले समेत तमाम वरिष्ठ एनडीए नेता मौजूद थे।

 

 

 

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.