Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

NEW DELHI: MDMK चीफ वायको अपने विवादित बयानों की वजह से हमेशा चर्चा में रहते हैं। आज फिर उन्होंने एक विवादिया बयान दे डाला। राज्यसभा सांसद वायको कहा कि जब भारत अपना 100वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा होगा तब तक कश्मीर भारत का हिस्सा नहीं होगा, यानी कश्मीर भारत के साथ नहीं होगा।

कश्मीर से धारा 370 हटने बाद वायको दुखी है। उन्होंने मोदी सरकार की जमकर आलोचना की और धारा 370 हटाए जाने का खुलकर विरोध किया। आपकी जानकारी के लिए बता दें कुछ दिन पहले वायको ने श्रीलंका के आतंकी संगठन लिट्टे का समर्थन किया था। जिसके बाद वायको को देशद्रोह के एक मामले में दोषी ठहराया गया था लेकिन बाद में अदालत ने उकनी सजा पर रोक लगा दी।

जिस दिन कश्मीर से धारा 370 हटी थी उस दिन वायको ने कहा था कि यह दुख भरा दिन है। हमने कश्मीर के लोगों के साथ वादाखिलाफी की है। जब PAK आर्मी कश्मीर में घुसी थी तब महाराजा हरि सिंह ने नेहरू से मदद मांगी थी और इंस्ट्रूमेंट ऑफ एक्सेशन पर दस्तखत किए गए। कश्मीरी नेता शेख अब्दुल्ला ने भारत के साथ जाने का फैसला किया था और एक शर्त रखी कि कश्मीर व्यक्तित्व और मौलिकता से समझौता नहीं किया जाएगा।

आपको बता दें कि राष्ट्रपति की मंजूरी के बाद जम्मू-कश्मीर धारा 370 हट चुकी है और राज्य को दो अगल अलग केंद्रशासित प्रदेश में विभाजित कर दिया है। अब जम्मू-कश्मीर और लद्दाख दो अलग केंद्र शासित प्रदेश होंगे।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.