Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

भारत के साथ-साथ पूरी दुनिया में आज तीसरा अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है। इस अवसर पर देश भर में कई कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। इन कार्यक्रमों में सबसे बड़ा कार्यक्रम लखनऊ के रमाबाई अम्बेडकर मैदान और अहमदाबाद में आयोजित हुआ। लखनऊ में जहाँ खुद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ,राज्यपाल राम नाईक सहित कई आम और खास लोग मौजूद रहे वहीँ अहमदाबाद में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और बाबा रामदेव ने लाखों लोगों के साथ मिलकर योगाभ्यास किया। इस दौरान योग को लेकर हर आयु वर्ग के लोगों में खासा उत्साह देखने को मिला। आयुष मंत्रालय के आंकड़ों की मानें तो तीसरे योग दिवस पर आज देश भर में ऐसे 5000 से ज्यादा कार्यक्रम आयोजित हुए हैं।

राजधानी लखनऊ में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर लोगों में खासा उत्साह देखने को मिला। सुबह से हो रही झमाझम बारिश के बावजूद भी लोगों की संख्या में कोई कमी नहीं थी। हर किसी ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर योग कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का समर्थन किया और उनके प्रयासों की सराहना की। इस अवसर पर प्रधानमंत्री भी करीब 45 मिनट तक कार्यक्रम स्थल पर योग करते नजर आये।

इससे पहले पीएम मोदी ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि आज योग जन-जन का और घर-घर का हिस्सा बन रहा है। देश में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में योग मशहूर हुआ है। योग ने दुनिया को भारत से जोड़ा है। विश्व के तमाम देश योग के कारण भारत से जुड़ रहे हैं। वह हमारी भाषा नहीं जानते,हमारी संस्कृति भी सही से नहीं जानते लेकिन योग की वजह से हमसे जुड़ रहे हैं। इसी अवसर पर लोगों को संबोधित करते हुए यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि योग जीवन जीने की एक कला है। जो सबको आपस में जोड़ता है। योगी ने कहा कि वेदों सहित सभी प्राचीन ग्रंथो ने योग के महत्व को स्वीकारा है। देशभर में योग दिवस उत्साह से मनाया जा रहा है। हम सभी को पीएम मोदी के प्रति कृतज्ञता दिखानी चाहिए। उन्होंने कहा कि सुबह योग करने से शरीर स्वस्थ रहता है। उन्होंने बारिश की ओर इशारा करते हुए लोगों से कहा कि मौसम की विपरीत परिस्थितियों में भी योग का अपना अलग आनंद है।

योग दिवस के मौके पर लखनऊ के अलावा एक बड़ा कार्यक्रम गुजरात के अहमदाबाद में भी आयोजित हुआ। यहाँ बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह,गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपानी और योग गुरु बाबा रामदेव के साथ लाखों लोगों ने योग अभ्यास में भाग लिया। इस अवसर पर बाबा रामदेव ने कहा कि प्रधानमंत्री बनते ही जब सयुंक्त राष्ट्र गए थे, तब उन्होंने योग दिवस का प्रस्ताव रखा था। उनके कारण आज पूरी दुनिया योग कर रही है, और तीसरा योग दिवस मना रही है।

देश की राजधानी दिल्ली में भी इस अवसर पर कई कार्यक्रम आयोजित किये गए। दिल्ली के कनॉट प्लेस में आयुष मंत्रालय द्वारा आयोजित योग कार्यक्रम में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उप राज्यपाल अनिल बैजल, केंद्रीय मंत्री एम. वेंकैया नायडू, एनडीए के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार और बिहार के पूर्व राज्यपाल रामनाथ कोविंद, विजय गोयल सहित कई नेताओं ने हिस्सा लिया।

योग दिवस के अवसर पर देश में कई जगह से योग कार्यक्रम आयोजित होने की ख़बरें मिली। लेकिन इन ख़बरों में लद्दाख की खून जमा देने वाली ठण्ड में योग अभ्यास करते सैनिकों के साथ विक्रमादित्य पर सवार नौसैनिकों की योग करती तस्वीरों ने सब का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया। इसके अलावा चीन की दिवार और विश्व के कई देशों से योग दिवस की बेहतरीन तस्वीरें सामने आई हैं। कुल मिलकर हम देखें तो भारत के अन्दर कई राज्यों में योग दिवस मनाने के विरोध के बावजूद योग के प्रति लोगों में जबरदस्त उत्साह और समर्थन देखने को मिला है।

एक तरफ जहाँ देश और दुनिया में योग दिवस मनाया जा रहा है वहीँ भारत में कई राजनीतिक दलों और राज्य सरकारों ने इसे पब्लिसिटी स्टंट बताते हुए इसे न मनाने का फैसला किया था। इसी क्रम में जहाँ कांग्रेस ने मध्यप्रदेश में योग दिवस का विरोध किया वहीँ उत्तरप्रदेश में समाजवादी पार्टी ने साइकिल चला निरोग रहने का सन्देश दिया। इससे पहले बिहार सरकार भी इस आयोजन से खुद को अलग रखने की बात कह चुकी थी।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.