Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की भूमिका बहुत अहम है, धोनी टीम के लिए अपनी अहमियत कई बार साबित कर चुके है। रविवार को खेले गए आखिरी मैच में धोनी ने एक बार फिर अपनी शानदार रनआउट से सबको चौका दिया। रविवार को वेलिंगटन में में न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज के आखिरी वनडे में एक ‘रन आउट’ ने मैच का नक्शा ही बदल दिया और इसके लिए 37 साल के विकेटकीपर धोनी जिम्मेवार रहे।

भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने बल्लेबाज जेम्स नीशम को रनआउट कर एक बार फिर अपनी फुर्ती का नमूना पेश किया। इसका एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इसे देखकर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) भी बल्लेबाजों को बचने की सलाह देने लगी है।

न्यूजीलैंड की पारी के 37वें ओवर में जेम्स नीशान (32 गेंदों में 44 रन) केदार जाधव की गेंद पर स्वीप शॉट खेलने गए लेकिन गेंद को मिस कर बैठे। गेंद नीशाम के पैड्स से टकराकर विकेट के पीछे महेंद्र सिंह धौनी के पास गई और उन्होंने पगबाधा की अपील की। भारतीय खिलाड़ी एलबीडब्ल्यू की अपील कर रहे थे और जेम्स नीशाम की निगाहें भी अंपायर की तरफ थी। इस बीच नीशाम यह भूल बैठे थे कि वह शॉर्ट खेलने के चक्कर में क्रीज से बाहर निकल गए और फिर अंदर क्रीज में नहीं लौटे। लेकिन धौनी विकेटों के पीछे पूरी तरह मुस्तैट खड़े थे उन्होंने अपील करते करते ही गेंद उठाई और नीशम को रन आउट कर पवेलियन भेज दिया।

आईसीसी ने महेंद्र सिंह धौनी की इस शानदार सूझबूझ की प्रशंसा अपने अनोखे अंदाज में की है। दरअसल, योको नाम के एक जापानी मल्टीमीडिया आर्टिस्ट ने ट्विटर पर कुछ ऐसी सलाह मांगी, जिससे वह उसका जीवन सुरक्षित और खुशनुमा बना रहे। योको के इस ट्वीट पर आईसीसी ने जवाब दिया। आईसीसी ने योको को सलाह दी और कहा, ‘तब अपना क्रीज छोड़कर बाहर बिल्कुल मत खड़े हों, जब महेंद्र सिंह धौनी स्टंप के पीछे खड़े हों।’ आईसीसी के इस ट्वीट को क्रिकेट प्रेमी खूब पसंद कर रहे हैं।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.