Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

कुलदीप यादव ने आईसीसी वर्ल्ड कप में अपनी जादूगरी से न सिर्फ अपने प्रशंसकों का दिल जीता है, बल्कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद की तारीफ बटोरने में भी वह कामयाब रहे। 24 साल के इस स्पिनर ने पाकिस्तान के खिलाफ वर्ल्ड कप मुकाबले में अपने प्रदर्शन से वाहवाही लूटी है। भारत ने रविवार को डकवर्थ लुईस नियम के तहत पाकिस्तान को 89 रनों से हराया।

दरअसल, पाकिस्तान के खिलाफ महामुकाबले में ‘चाइनमैन’ कुलदीप (2/32) ने एक बेहतरीन गेंद पर बाबर आजम को बोल्ड किया था और यहीं से पाकिस्तानी टीम हार की तरफ जाने लगी थी। आईसीसी ने कुलदीप की उस बेहतरीन गेंद का वीडियो शेयर करते हुए लिखा कि इस वर्ल्ड कप में अब तक की यह बेहतरीन गेंद है।

कुलदीप ने की अपनी गेंद की तारीफ
ओल्ड ट्रेफर्ड में कुलदीप की गेंद 78 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से आई थी। गेंद ऑफ स्टंप के बाहर टप्पा खाई और फिर बहुत तेजी से अंदर आकर बाबर के विकेट ले उड़ी थी। कुलदीप भी अपनी उस गेंद की तारीफ करने से खुद को रोक नहीं पाए। उन्होंने कहा, ‘बारिश से मिले ब्रेक के बाद मैं गया और मैंने वो गेंद देखी। गेंद ड्रिफ्ट हुई थी और फिर टर्न ले गई थी। हर स्पिनर इस गेंद को पसंद करेगा।

शानदार ड्रीम डिलिवरी
कुलदीप ने कहा, ‘यह एक शानदार ड्रीम डिलिवरी और टेस्ट मैच की गेंद है। बल्लेबाज को हवा में छकाया और उसे गलती करने को मजबूर किया। सटीक गेंद। कप्तान विराट कोहली ने भी कुलदीप की तारीफ की। उन्होंने कहा, ‘बाबर को जिस गेंद पर कुलदीप ने बोल्ड किया वह बेहतरीन गेंद थी। उसमें ड्रिफ्ट था, टर्न था। इंग्लैंड में आकर वह अच्छी गेंदबाजी कर रहे हैं।

कप्तान विराट ने गेंद की तारीफ
कप्तान विराट कोहली ने भी कुलदीप की इस गेंद की तारीफ की। उन्होंने कहा, “कुलदीप ने बेहतरीन प्रदर्शन किया। वो सिर्फ कुलदीप को बाहर मारने की कोशिश कर रहे थे। लंबे स्पैल में इस स्थिति में मदद की और वह अपनी लय में आ गया। उन्होंने सोचा था कि कुलदीप जल्दी से गेंदबाजी से हट जाएगे। कप्तान ने कहा, “बाबर को जिस गेंद पर उन्होंने बोल्ड किया और बेहतरीन गेंद थी। उसमें ड्रिफ्ट था, टर्न था। इंग्लैंड में आकर वह अच्छी गेंदबाजी कर रहे हैं।

26 साल पहले शेन वॉर्न ने इसी ओल्ड ट्रेफर्ड में फेंकी थी।
दरअसल, ओल्ड ट्रेफर्ड वही यह मैदान है, जहां 26 साल पहले शेन वॉर्न ने 1993 के एशेज सीरीज के दौरान इंग्लैंड के माइक गेटिंग को जिस गेंद पर बोल्ड किया था, उसे ‘शताब्दी की सर्वश्रेष्ठ गेंद’ कही जाती है। उस गेंद ने वॉर्न की जिंदगी बदल कर रख दी थी।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.