Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

क्रोएशिया ने इंग्लैंड को अतिरिक्त समय तक खिंचे सेमीफाइनल में बुधवार को 2-1 से हराकर पहली बार फीफा विश्वकप फुटबॉल टूर्नामेंट के खिताबी मुकाबले में प्रवेश कर लिया जहां उसकी टक्कर पूर्व चैंपियन फ्रांस से होगी। क्रोएशिया 1990 में स्वतंत्र देश बना था और उसका पदार्पण विश्वकप 1998 में था जिसमें वह सेमीफाइनल में पहुंचकर मेजबान और बाद में विजेता बने फ्रांस से हारा था। इस तरह इस बार के विश्व कप का फाइनल 1998 के सेमीफाइनल की पुनरावृति होगा।

इंग्लैंड की टीम अब तीसरे स्थान के प्लेऑफ में 14 जुलाई को सेंट पीटर्सबर्ग में बेल्जियम से भिड़ेगी। फाइनल इसके अगले दिन यहां लुजनिकी स्टेडियम में ही खेला जाएगा।  इंग्लैंड ने मैच के पांचवें मिनट में ही कीरन ट्रिपियर के गोल से बढ़त बनायी जबकि इवान पेरिसिच ने 68वें मिनट में शानदार गोल से क्रोएशिया को बराबरी पर ला दिया। निर्धारित 90 मिनट में स्कोर 1-1 से बराबर रहने के बाद मैच अतिरिक्त समय में खिंच गया जिसमें 109वें मिनट में मारियो मानजुकिच ने क्रोएशिया के लिए मैच विजयी गोल दाग दिया। क्रोएशिया के पेरिसिच मैन ऑफ द मैच बने।

विश्व कप सेमीफाइनल में 18 मौकों में यह सिर्फ दूसरी बार था जब हाफ टाइम तक बढ़त बनाने वाली टीम को हार का सामना करना पड़ा है। इससे पहले 1990 में इटली की टीम अर्जेन्टीना के खिलाफ बढ़त बनाने के बावजूद पेनल्टी शूटआउट में हार गई थी। इंग्लैंड आखिरी बार 1990 में सेमीफाइनल में पहुंचा था और उसे 1966 में एकमात्र खिताब जीतने के 52 साल बाद अपने दूसरे खिताब की तलाश थी लेकिन क्रोएशिया के जज्बे ने उसका सपना तोड़ दिया।

इंग्लैंड और क्रोएशिया के बीच फीफा विश्वकप यह पहली भिड़ंत थी। हालांकि दोनों अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सात बार एक दूसरे के खिलाफ खेल चुके थे। इन आठ मुकाबलों  में इंग्लैंड ने चार जीत दर्ज की जबकि क्रोएशिया के हाथ तीसरी जीत लगी है। क्रोएशिया ने ग्रुप चरण में सभी तीन मैच जीते थे और उसने  राउंड-16 में डेनमार्क को और क्वार्टरफाइनल में मेजबान रूस को हराने में अतिरिक्त समय और शूटआउट का सहारा लिया था जबकि इंग्लैंड को उसने अतिरिक्त समय में पराजित किया।

इंग्लैंड ने टूर्नामेंट में अब तक 12 गोल किये हैं और 1966 के टूर्नामेंट में अपने सर्वाधिक 11 गोल करने के रिकार्ड को तोड़ दिया है लेकिन सेमीफाइनल हारना उसके लिए बेहद निराशाजनक रहा।इंग्लैंड ने मुकाबले में तेज तर्रार शुरुआत की। पांचवें मिनट में ही ट्रिपियर ने शानदार गोल दागकर इंग्लैंड को 1-0 की बढ़त दिलाई। क्रोएशिया के कप्तान लुका मोड्रिच ने डेले अली के खिलाफ फाउल किया। फ्री किक लेने की जिम्मेदारी ट्रिपियर को सौंपी गई, जिन्होंने 20 गज की दूरी से दमदार शॉट पर सुबेसिच की बाईं ओर से गेंद को गोल के अंदर पहुंचा दिया। इसके साथ ही ट्रिपियर का यह गोल पिछले 12 वर्षों में किसी इंग्लिश खिलाड़ी का फीफा विश्व कप में फ्री-किक पर पहला गोल साबित हुआ। इससे पहले आखिरी बार यह कमाल 2006 फीफा विश्व कप में इक्वाडोर के खिलाफ इंग्लैंड के पूर्व कप्तान डेविड बेकहम ने किया था।

इंग्लैंड को 12वें और 14वें मिनट में दो कॉर्नर किक भी मिली, लेकिन टीम इनका फायदा नहीं उठा सकी। दूसरे प्रयास में ट्रिपियर की कॉर्नर किक पर हैरी मैग्वायर के पास हैडर  से गोल करने का मौका था, लेकिन उनका शॉट गोल के करीब से बाहर निकल गया। 19वें मिनट में क्रोएशिया को बराबरी का मौका मिला लेकिन दाएं छोर से बने अच्छे मूव पर पेरिसिच का दमदार शॉट गोलकीपर जोर्डन पिकफोर्ड की दाईं ओर से बाहर निकल गया। इंग्लैंड को 30वें मिनट में बढ़त दोगुनी करने का सुनहरा मौका मिला, जब क्रोएशिया के बॉक्स में मची अफरातफरी के बाद गेंद टॉप स्कोरर हैरी केन के पास पहुंची। उन्हें सिर्फ सुबेचिच को छकाकर गेंद को गोल में पहुंचाना था, लेकिन गोलकीपर ने उनके शॉट को रोक दिया। रिबाउंड पर हालांकि गेंद दोबारा केन के पास आयी और इस बार वह शॉट को पोस्ट पर मार बैठे।

दूसरे हाफ में क्रोएशिया ने आक्रामकता दिखाई और इंग्लैंड पर दबाव बनाया। 68वें मिनट में दाएं छोर से साइम वर्साल्को के शानदार क्रॉस को पेरिसिच ने बाएं पैर से गेंद को गोल के अंदर पहुंचा दिया और क्रोएशियाई टीम के स्कोर को 1-1 की बराबरी पर ला दिया। निर्धारित समय में मुकाबला बराबर रहने के बाद मैच अतिरिक्त समय में चला गया। अतिरिक्त समय  के पहले हाफ में दोनों टीमों की तरफ से कोई गोल नहीं हो पाया और स्कोर फिर से 1-1 की बराबरी पर रहा। अतिरिक्त समय के दूसरे हाफ में 109 वें मिनट में पेरिसिच के हैडर पर मिले बैक पास को मानजुकिच ने विजयी गोल दाग दिया।

इंग्लैंड की टीम को अंतिम लगभग 10 मिनट का खेल 10 खिलाड़ियों के साथ खेलना पड़ा क्योंकि ट्रिपियर चोटिल हो गए और कोच साउथगेट अपने सभी स्थानापन्न खिलाड़ियों का इस्तेमाल कर चुके थे। क्रोएशियाई टीम ने अपना डिफेंस मजबूत रखा और बाकी बचे समय को निकालकर यह मुकाबला 2-1 से अपने नाम करते हुए फीफा विश्व कप के फाइनल में अपनी जगह पक्की कर ली।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.