Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

कप्तान विराट कोहली (104) के 39वें शतक और पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की नाबाद 55 रन की धैर्यपूर्ण पारी से भारत ने ऑस्ट्रेलिया को दूसरे वनडे में मंगलवार को छह विकेट से हराकर तीन मैचों की सीरीज में 1-1 की बराबरी हासिल कर ली।

ऑस्ट्रेलिया ने शॉन मार्श (131) के शानदार शतक से 50 ओवर में नौ विकेट पर 298 रन का मजबूत स्कोर बनाया लेकिन भारत ने विराट और धोनी के कमाल से 49.2 ओवर में चार विकेट पर 299 रन बनाकर जीत हासिल की और सीरीज को फैसले के लिए निर्णायक मैच में पहुंचा दिया। विराट ने एक बार फिर लक्ष्य का पीछा करते हुए शतक जमाया और भारत को जीत की राह पर डाल दिया। विराट ने 112 गेंदों पर 104 रन में पांच चौके और दो छक्के लगाए। विराट का विकेट गिरने के बाद धोनी ने दिनेश कार्तिक के साथ पांचवें विकेट के लिए 34 गेंदों में 57 रन की अविजित साझेदारी कर भारत को चार गेंद शेष रहते जीत की मंजिल पर पहुंचा दिया।

भारत को आखिरी ओवर में जीत के लिए सात रन चाहिए थे और धोनी ने जैसन बेहरनडोर्फ़ की पहली गेंद पर छक्का मारा और अगली गेंद पर एक रन लेकर मैच समाप्त कर दिया। धोनी ने 54 गेंदों पर नाबाद 55 रन में दो छक्के लगाए और लगातार दूसरा अर्धशतक पूरा किया। धोनी ने मैच फिनिश कर उन आलोचकों को करारा जवाब दे दिया जो पिछले मैच में उनकी कुछ धीमी पारी पर सवाल उठा रहे थे। कार्तिक ने अपनी उपयोगिता साबित करते हुए मात्र 14 गेंदों पर नाबाद 25 रन में दो चौके लगाए। एडिलेड में भारत ने इस तरह लक्ष्य का पीछा करते हुए दूसरी सबसे बड़ी जीत हासिल की।

भारत ने लक्ष्य का पीछा करते हुए अच्छी शुरुआत की। शिखर धवन और पिछले मैच के शतकधारी रोहित शर्मा ने पहले विकेट के लिए 7.4 ओवर में 47 रन की साझेदारी की। शिखर 28 गेंदों में पांच चौकों की मदद से 32 रन बनाने के बाद जैसन बेहरनडोर्फ़ की गेंद पर उस्मान ख्वाजा को कैच दे बैठे। रोहित ने अपने कप्तान विराट कोहली के साथ भारत के 100 रन पूरे किये। रोहित जब अपने अर्धशतक से सात रन दूर थे कि मार्कस स्टॉयनिस की गेंद पर पीटर हैंड्सकॉम्ब को कैच थमा बैठे। रोहित ने 52 गेंदों पर 43 रन में दो चौके और दो छक्के लगाए। भारत का दूसरा विकेट 101 के स्कोर पर गिरा। कप्तान विराट ने इसके बाद मोर्चा संभाला और अंबाटी रायुडू के साथ स्कोर को 160 रन तक ले गए। रायुडू ने रन रेट बढ़ने की कोशिश में अपना विकेट गंवाया। रायुडू को ग्लेन मैक्सवेल ने स्टॉयनिस के हाथों कैच कराया। रायुडू ने 36 गेंदों पर 24 रन में दो चौके लगाए।

विराट ने इसके बाद पूर्व कप्तान और विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी के साथ चौथे विकेट के लिए 82 रन की सबसे महत्वपूर्ण साझेदारी की। विराट ने अपने 50 रन 66 गेंदों में और 100 रन 108 गेंदों में पूरे किये। विराट का 218 वनडे में यह 39वां शतक था और अब वह विश्व रिकॉर्डधारी सचिन तेंदुलकर के 49 शतकों से 10 शतक दूर रह गए हैं। विराट अपना शतक पूरा करने के बाद पिछले मैच के मैन ऑफ द मैच झाय रिचर्डसन का शिकार बन गए।  विराट का कैच मैक्सवेल ने लपका और उनका विकेट 242 के स्कोर पर गिरा। धोनी ने इसके बाद दिनेश कार्तिक के साथ भारत को मंजिल की तरफ ले जाने का काम शुरू किया और टीम को जीत की मंजिल पर पहुंचाया। इससे पहले ऑस्ट्रेलिया ने शान मार्श (131) के शानदार शतक से नौ विकेट पर 298 रन का मजबूत स्कोर बनाया लेकिन इस बार उसके गेंदबाज स्कोर का बचाव नहीं कर पाए। मार्श का दुर्भाग्य रहा कि उनके पिछले चार शतकों में टीम को हार का सामना करना पड़ा।

ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया और मार्श ने ऑस्ट्रेलियाई जमीन पर अपना सर्वश्रेष्ठ स्कोर बनाते हुए ऑस्ट्रेलिया को 298 तक पहुंचा दिया। मार्श ने 123 गेंदों पर 131 रन की पारी में 11 चौके और तीन छक्के लगाए। मार्श का 62 वनडे में यह सातवां शतक था। मेजबान टीम ने आखिरी ओवरों में जल्दी-जल्दी विकेट गंवाए वरना टीम का स्कोर 300 रन से ज्यादा हो सकता था। इसके बावजूद ऑस्ट्रेलिया ने अंतिम 10 ओवरों में 93 रन बटोरकर भारत के सामने मजबूत चुनौती पेश कर दी।भारत की तरफ से भुवनेश्वर कुमार 10 ओवर में 45 रन पर चार विकेट लेकर सबसे सफल गेंदबाज रहे। भुवनेश्वर ने पारी के 48 वें ओवर में ग्लेन मैक्सवेल और मार्श के विकेट लेकर ऑस्ट्रेलिया को 300 का स्कोर नहीं छूने दिया। ऑस्ट्रेलिया ने आखिरी पांच ओवर में 38 रन जोड़कर चार विकेट गंवाए। भुवनेश्वर के चार विकेट के अलावा तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने 58 रन पर तीन विकेट और लेफ्ट आर्म स्पिनर रवींद्र जडेजा ने 49 रन पर एक विकेट लिया।

जडेजा ने अपने सीधे थ्रो से उस्मान ख्वाजा को रन आउट भी किया। मोहम्मद सिराज ने 10 ओवर में 76 और चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव ने 66 रन लुटाये और उन्हें कोई विकेट नहीं मिला। ऑस्ट्रेलिया की तरफ से मैक्सवेल ने 37 गेंदों पर 48 रन में पांच चौके और एक छक्का लगाया जबकि एलेक्स कारी ने 18, ख्वाजा ने 21, पीटर हैंड्सकॉम्ब ने 20 और मार्कस स्टॉयनिस ने 29 रन बनाये। नाथन लियोन ने नाबाद 12 रन बनाये। लियोन ने पारी की आखिरी गेंद पर भुवनेश्वर पर शानदार छक्का जड़ा और टीम को 298 तक पहुंचा दिया।

31वीं बार मैन ऑफ द मैच बने विराट

भारतीय कप्तान विराट कोहली लक्ष्य का पीछा करते हुए अपने एक और शानदार शतक की बदौलत मैन ऑफ द मैच बन गए हैं। भारत ने मंगलवार को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दूसरे वनडे में मेजबान टीम के 298 के स्कोर को चार गेंद शेष रहते पार कर छह विकेट से जीत हासिल की। विराट ने इस जीत में 104 रन की मैच विजयी पारी खेली और मैन ऑफ द मैच बने। वनडे में यह 31वां मौका है जब विराट मैन ऑफ द मैच बने हैं। विराट इस तरह वनडे में सर्वाधिक बार मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार हासिल करने में संयुक्त रूप से छठे स्थान पर आ गए है। विराट ने इसके साथ ही श्रीलंका के कुमार संगकारा, भारत के सौरभ गांगुली और वेस्ट इंडीज के विवियन रिचर्ड्स की बराबरी कर ली है जिन्होंने 31 बार मैन ऑफ द मैच पुरस्कार जीते हैं। मैन ऑफ द मैच पुरस्कार हासिल करने में विराट से आगे अब पाकिस्तान के शाहिद आफरीदी (32), ऑस्ट्रेलिया के रिकी पोंटिंग (32), दक्षिण अफ्रीका के जैक्स कैलिस (32), श्रीलंका के सनत जयसूर्या (48) और भारत के सचिन तेंदुलकर (62) हैं।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.