Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

टेस्ट और वनडे श्रृंखला जीतने के बाद भारत ने टी-20 सीरीज में भी शानदार शुरूआत की। टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम को कप्तान रोहित शर्मा और लोकेश राहुल ने तेज शुरूआत दी। हालांकि कप्तान रोहित शर्मा 17 रन के निजी स्कोर पर आउट हो गए। बेहतरीन फॉर्म में चल रहे श्रेयस अय्यर ने इसके बाद राहुल का साथ दिया। लेकिन वह भी अच्छी शुरूआत को बड़े स्कोर में तब्दील नहीं कर सके और सिर्फ 24 रन बनाकर चलते बने।

K L Rahulबल्लेबाजी में प्रमोट किए गए पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने इसके पारी को अपने हाथ में लेना शुरू किया। इसी बीच राहुल 61 रन बनाकर ऑउट हो गए। लेकिन धोनी ने मनीष पांडे के साथ मिलकर टीम के स्कोर को 180 तक पहुंचा दिया। धोनी ने 39 तो पांडे ने 32 रन बनाए।

181 रन के बड़े लक्ष्य का पीछा करने उतरी श्रीलंकाई टीम कभी भी लक्ष्य प्राप्त करने के हालात में नहीं दिखी। नियमित अंतराल पर उसके विकेट गिरते रहे। तेज बल्लेबाजी करने का प्रयास कर रहे निरोशन डिकेवेला को जयदेव उनादकट ने अपना पहला टी-ट्वेंटी शिकार बनाया। इसके बाद भारत की नई स्पिन जोड़ी कुलदीप और चहल ने कभी भी श्रीलंकाई बल्लेबाजों को खुलकर खेलने नहीं दिया। दोनों ने श्रीलंकाई मध्य क्रम के कमर को तोड़ कर रख दिया। चहल ने 4 तो कुलदीप ने 2 विकेट लिए।

इसके बाद पांड्या ने आखिरी के तीन विकेट निकाल कर श्रीलंका को सिर्फ 87 रन पर आउट कर दिया। इस तरह भारत ने 93 रन की एक बड़ी जीत हासिल की।

टीम इंडिया ने बनाया सबसे बड़े जीत का रिकॉर्ड

यह टी-ट्वेंटी मैचों में रनों के हिसाब से भारत की सबसे बड़ी जीत है। इससे पहले यह रिकॉर्ड 90 रन का था जब विश्व कप, 2012 में भारत ने इंग्लैंड को इस अंतर से मात दी थी।

धोनी ने अपने नाम किए एक साथ कई रिकॉर्ड

DHONI-STUMPINGइसके अलावा भी इस मैच में कई रिकॉर्ड बने। पूरे मैच में कैप्टन कूल धोनी छाए रहे। पहले बल्लेबाजी में उन्होंने 39 रन बना कर टी-ट्वेंटी अंतरराष्ट्रीय मैचों में 1300 रन पूरे किए। इसके साथ ही धोनी ने सुरेश रैना को पीछे छोड़ा। टी-ट्वेंटी अंतरराष्ट्रीय में अब धोनी के नाम अब 1320 रन हैं, जबकि रैना के नाम 1307 रन हैं।

उधर विकेटकीपिंग में भी 4 शिकार ( 2 कैच, 2 स्टम्पिंग) करके धोनी ने टी-ट्वेंटी अंतरराष्ट्रीय में सबसे ज्यादा डिसमिसल करने वाले फील्डर का रिकॉर्ड बनाया। धोनी के नाम 74 डिसमिसल हैं, जिसमें 47 कैच और 27 स्टम्पिंग शामिल हैं। धोनी ने एबी डिविलियर्स का रिकॉर्ड तोड़ा, जिनके नाम 72 डिसमिसल ( 65 कैच, 7 स्टम्पिंग) हैं। आपको बता दें कि डिविलियर्स के इन 65 कैचों में 44 कैच बतौर फील्डर और 21 कैच बतौर विकेटकीपर हैं।

यजुवेंद्र चहल बने साल के सबसे सफल टी-ट्वेंटी गेंदबाज

Yuzvendra Chahalवहीं यजुवेंद्र चहल भी 4 विकेट लेकर आश्विन के बाद टी-ट्वेंटी अंतरराष्ट्रीय मैचों में दो बार 4 विकेट लेने वाले सिर्फ दूसरे भारतीय गेंदबाज बने। ‘मैन ऑफ द मैच’ रहे युजवेंद्र चहल टी-ट्वेंटी अंतरराष्ट्रीय मैचों में इस साल सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज भी बन गए हैं। चहल ने 2017 में 10 मैच खेले हैं, जिनमें 7.28 की इकॉनमी से 19 विकेट लिए हैं। चहल ने इस मामले में अफगानिस्तान के लेग स्पिनर राशिद खान और वेस्टइंडीज के तेज गेंदबाज केसरिक विलियम्स को पीछे छोड़ा। दोनों संयुक्त रूप से दूसरे स्थान पर हैं और दोनों के नाम 17 विकेट हैं।

रोहित शर्मा ने पूरे किए 1500 रन

Rohit Sharmaकप्तान रोहित शर्मा ने भी टी-ट्वेंटी अंतरराष्ट्रीय मैचों में 1500 रन पूरे किए। वह ऐसा करने वाले सिर्फ दूसरे भारतीय बल्लेबाज बनें। पहले नंबर पर भारत के नियमित कप्तान विराट कोहली का नाम है, जिनके नाम 1956 रन दर्ज है।

~दया सागर

 

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.