Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

बल्लेबाज़ों के रिकार्डतोड़ प्रदर्शन और गेंदबाज़ों के निर्दयी प्रहार की बदौलत भारतीय क्रिकेट टीम ने फॉलोऑन को मजबूर हुई वेस्टइंडीज़ के खिलाफ घरेलू पहले क्रिकेट टेस्ट के तीसरे ही दिन शनिवार को मैच निपटाते हुये पारी और 272 रन से अपने टेस्ट इतिहास की भी सबसे बड़ी जीत दर्ज कर ली। भारत की टेस्ट इतिहास में भी यह अब तक की सबसे बड़ी जीत है। उसने इसी वर्ष अफगानिस्तान के खिलाफ बेंगलुरू में खेले गये एकमात्र टेस्ट में पारी और 262 रन से टेस्ट में अपनी सबसे बड़ी जीत दर्ज की थी। वहीं वेस्टइंडीज़ के खिलाफ यह भारत की अब तक की सबसे बड़ी जीत भी है।

भारत ने आखिरी बार वेस्टइंडीज़ को नवंबर 2013 में मुंबई में पारी और 126 रन से पराजित किया था। भारत ने मैच में पहले बल्लेबाज़ी करते हुये नौ विकेट पर 649 रन बनाकर अपनी पारी घोषित कर दी थी।  लेकिन इसके जवाब में वेस्टइंडीज़ की पहली पारी तीसरे दिन लंच से पहले ही 48 ओवर में 181 रन पर ढेर हो गयी। मेहमान टीम भारत के स्कोर से 468 रन पीछे रह गयी जिसके बाद उसे फॉलोआन करना पड़ा। लेकिन वेस्टइंडीज़ दिन के लगभग 18 ओवर शेष रहते ही 50.5 ओवर में 196 रन पर ऑल आउट हो गयी।

भारत के चाइनामैन गेंदबाज़ कुलदीप यादव ने वेस्टइंडीज़ की दूसरी पारी में 57 रन पर पांच विकेट की अपनी सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी की और पहली बार करियर में पारी में पांच विकेट की उपलब्धि दर्ज की। उन्होंने मैच में कुल छह विकेट लिये जो उनका सर्वश्रेष्ठ टेस्ट प्रदर्शन भी है।

भारत के पहली पारी में तीन शतक

भारत की ओर से स्पिनर कुलदीप यादव और आर अश्विन ने छह-छह विकेट लिए। इससे पहले भारतीय टीम ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए तीन बल्लेबाज़ों के शतक की बदौलत 649 रनों का विशाल स्कोर बनाया। अपना पहला टेस्ट मैच खेल रहे पृथ्वी शॉ ने 134, कप्तान विराट कोहली 139 और रविंद्र जडेजा ने 100 रन बनाए. पृथ्वी शॉ को मैन ऑफ़ द मैच चुना गया।

अपना पहला टेस्ट शतक बनाने वाले लेफ्ट आर्म स्पिनर रवींद्र जडेजा ने शर्मन लुईस(4) और शैनन गैबरिएल (4) के विकेट लेकर विंडीज़ की पारी समेट दी। उन्होंने 35 रन पर तीन विकेट निकाले। जबकि पहली पारी में 37 रन पर चार विकेट लेने वाले ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन को दो विकेट मिले। वेस्टइंडीज़ की दूसरी पारी में कप्तान कार्लोस ब्रेथवेट(10) के जल्द आउट होने के बाद कीरन पावेल ने 93 गेंदों में आठ चौके और चार छक्के लगाकर 83 रन की अर्धशतकीय पारी खेली। लेकिन दूसरे छोर से निरंतर अंतराल पर विकेट गिरते रहे। रोस्टन चेज़ 20 रन बनाकर दूसरे बड़े स्कोरर रहे। ब्रेथवेट को अश्विन ने आउट किया जबकि बाकी के पांचों बल्लेबाज़ों को कुलदीप ने पवेलियन भेजा।

                                                                                                             –साभार,ईएनसी टाईम्स

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.