Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

सीआरपीएफ के जवानों को PUBG खेलने की लत लग गई है। यह बात सीआरपीएफ के आंतरिक सर्वे में सामने आई है। जिसके बाद सीआरपीएफ ने अपने कमांडिंग अफसरों को निर्देश दिया है कि वह जवानों के PUBG गेम खेलने पर प्रतिबंध लगाएं। अद्धसैनिक बल के दिल्ली मुख्यालय में तैनात सीआरपीएफ के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि इस लत से जवानों को ऑपरेशनल क्षमता पर भी प्रभाव पड़ रहा है।

एक अंग्रेजी अखबार की रिपोर्ट के अनुसार अधिकारी ने कहा कि कई जवान इस लत से अपने साथी जवानों से मेलजोल भी कम कर दे रहे हैं। शारीरिक गतिविधियों के कम होने से जवानों की नींद पूरी नहीं हो पा रही है। इस संबंध में बिहार की सीआरपीएफ यूनिट ने एक सर्कुलर जारी किया है। 6 मई को जारी इस सर्कुलर के अनुसार यह देखने में आया था कि सीआरपीएफ के युवा जवान इस हिंसक गेम PUBG एप के आदि हो गए हैं।

इसमें सभी डीआईजी को यह उनके तहत आने वाले सभी यूनिट/कंपनियों के जवानों को इस तरह के एप को डिलीट करना सुनिश्चित कराने को कहा गया है। सभी कंपनी कमांडर यह सुनिश्चित करें कि सभी फोन से यह एप डिलीट हो जाए। इसके अलावा जवानों के फोन की औचक जांच होनी चाहिए। इस सर्कुलर को सभी सीआरपीएफ फोर्मेशंस और बल के एंटी इनसरजेंसी कोबरा यूनिट को भेजा गया है।

सीआरपीएफ देशभर में काउंटर इनसरजेंसी और माओवादी रोधी अभियानों को संचालित करती है। सीआरपीएफ के करीब 70000 जवान जम्मू और कश्मीर में तैनात हैं। ये लोग स्थानीय पुलिस के साथ मिलकर कानून और व्यवस्था सुनिश्चित करना चाहते हैं। सीआरपीएफ के अधिकारी के कहा कि यह आदेश सीआरपीएफ के सभी फॉर्मेशंस पर लागू होगा।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.