Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

युवा कार्यक्रम एवं खेल राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) कर्नल राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने दिल्ली में राष्ट्रीय युवा संसद महोत्सव 2019 का शुभारंभ किया और इसके साथ ही राष्ट्रीय युवा दिवस 2019 के जलसे की शुरुआत हो गई। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने ‘मन की बात’ संबोधन में देश के हर जिले में युवा लोगों की युवा संसदों को आयोजित करने के विचार को साझा किया था ताकि 2022 से पहले हमारे संकल्पों को साकार करने के रास्ते ढूंढ़ने और योजना बनाने और नए भारत के बारे में मंथन करने के लिए युवाओं को मौका मुहैया करवाया जा सके।

राठौड़ ने कहा, “युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय का यह प्रण है कि वह इस युवा महोत्सव को देश के हर जिले में लेकर जाएगा और इसे राष्ट्रीय युवा संसद महोत्सव के तौर पर मनाएगा। जिला युवा संसदों को आयोजित करने और इस महोत्सव को युवाओं के दरवाजे तक ले जाने से देश में बड़ी संख्या में युवाओं को हिस्सा लेने का अवसर मुहैया करवाया जा सकेगा।”

खेल मंत्री ने बताया कि राष्ट्रीय युवा संसद महोत्सव 2019 को ‘नए भारत की आवाज़ बनो’ और ‘उपाय ढूंढो और नीति में योगदान करो’ की थीम पर आयोजित किया जा रहा है। जिला युवा संसदों में हिस्सा लेने के लिए 18 से 25 वर्ष के बीच के युवाओं को आमंत्रित किया गया है। ऐसा इसलिए किया गया है ताकि इस आयु वर्ग के युवाओं की आवाज को सुना जा सके जिन्हें मतदान करने का अधिकार तो है लेकिन चुनाव लड़ने का नहीं।

राठौड़ ने कहा, “राष्ट्रीय युवा संसद महोत्सव युवाओं को प्रोत्साहित करेगी कि वे जनता के मुद्दों से जुड़ें, आम आदमी के नजरिए को समझें, इस पर अपनी राय बनाएं और एक स्पष्ट ढंग से उसे अभिव्यक्त करें। नए भारत के सपने पर प्रासंगिक और प्रभावी आवाजों को पहचाना जाएगा और उनका दस्तावेजीकरण किया जाएगा ताकि उन्हें आगे ले जाने के लिए नीति निर्माताओं और कार्यान्वयनकर्ताओं के समक्ष उपलब्ध करवाया जा सके।”

खेल मंत्री ने बताया कि राष्ट्रीय युवा संसद महोत्सव 2019 को तीन स्तरों जिला युवा संसद (डीवाईपी), राज्य युवा संसद (एसवाईपी) और राष्ट्रीय युवा संसद (एनपाईपी) पर संचालित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि 12 जनवरी 2019 से इसकी प्रक्रिया प्रारंभ की गयी है और 24 फरवरी 2019 तक जारी रहेगी। राष्ट्रीय सेवा योजना और नेहरू युवा केंद्र संगठन इसके संचालन और प्रबंधन में विभिन्न स्तरों पर शामिल रहेंगे। राष्ट्रीय युवा संसद के तीन सर्वश्रेष्ठ वक्ताओं को प्रधानमंत्री द्वारा 2 लाख, 1.50 लाख और 1 लाख रुपये की राशि से पुरस्कृत किया जाएगा। अनुमान है कि सभी स्तरों पर युवा संसदों के माध्यम से 50 हजार युवा हिस्सा लेंगे।

-साभार, ईनसी टाईम्स

 

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.