Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

कानपुर के ग्रीन पार्क मैदान में खेले गए तीसरे मैच में भारत ने न्यूजीलैंड को 6 रनों से हरा दिया। इसके साथ ही भारत ने तीन मैचों की यह वनडे सीरीज अपने नाम कर ली। इस रोमांचक मुकाबले में भारत से मिले 338 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए न्यूजीलैंड की टीम निर्धारित 50 ओवरों में 7 विकेट खोकर 331 रन ही बना पाई। इस तरह से न्यूजीलैंड यह मैच 6 रनों से हार गया।

न्यूजीलैंड की ओर से कोलिन मुनरो ने सर्वाधिक 62 बॉल में 75 रन और टॉम लैथम ने 52 बॉल में 65 रन बनाएं। भारत की ओर से जसप्रीत बुमराह ने सर्वाधिक 3 विकेट लिए। इसके अलावा चहल ने 2 विकेट और भुवनेश्वर कुमार ने 1 विकेट लिया।

इससे पहले न्यूजीलैंड ने टॉस जीतकर भारत को पहले बल्लेबाजी करने का न्यौता दिया। भारत ने निर्धारित 50 ओवर में 6 विकेट खोकर 337 रन बनाए। भारत की ओर से बल्लेबाजी करते हुए रोहित शर्मा और विराट कोहली ने शानदार शतक जड़ा। रोहित शर्मा ने 138 बॉल पर 2 छक्के और 18 चौके की मदद से 147 रन बनाए, तो वहीं कप्तान कोहली ने 106 बॉल में 1 छक्के और 9 चौकों की मदद से शानदार 113 रन बनाए।

हालांकि ओपनिंग करने आए शिखर धवन कुछ खास नहीं कर सकें और  सिर्फ 14 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। उसके बाद कोहली और रोहित की दमदार साझेदारी से भारत ने न्यूजीलैंड के सामने एक विशाल स्कोर खड़ा किया।

न्यूजीलैंड की ओर से टिम साउथी, एडम मिलने और मिशेल सैंटनर ने दो दो विकेट चटकाए। रोहित शर्मा को मैन ऑफ द मैच और विरोट कोहली को मैन ऑफ द सीरीज का खिताब मिला।

रोमांचक मुकाबला-

यह मैच रोमांचक होना ही था क्योंकि दोनों ही टीमों की नजर जीत के साथ इस सीरीज पर टिकी थी। भारत से मिले 338 रनों के विशाल स्कोर का पीछा करने जब न्यूजीलैंड की टीम उतरी तो लग रहा था कि मैच एकतरफा कीवियों के झोली में जा रही है। लेकिन जब टीम में पूर्व कैप्टन कूल धौनी मौजूद हों तो पहले से मैच के परिणाम की उम्मीद लगाना बेकार है क्योंकि पासा कभी भी पलट सकता है। ठीक इस मैच में भी ऐसा हुआ।

बता दें कि आखिरी के तीन ओवरों में न्यूजीलैंड को जीत के लिए 30 रनों की जरूरत थी। न्यूजीलैंड के बेहतरीन बल्लेबाज टॉम लैथम और कोलिन डि ग्रैंडहोम क्रीज पर मौजूद थे।

मैच का सबसे बड़ा टर्निंग प्वाइंट था लैथम का रन आउट होना, जिसमें कैप्टन कूल धौनी का हाथ था। बता दें कि बुमराह ने अपने ओवर की पांचवीं गेंद यॉर्कर फेंकी और ग्रैंडहोम शॉट मारने से चूक गए। धौनी ने गेंद पकड़ी और नॉनस्ट्राइकर एंड पर फेंकी। लैथम नॉन स्ट्राइकर एंड गेंद फेंकते ही छोड़ चुके थे। धौनी ने गेंद हाथ में लेते ही अपना प्रेजेंस ऑफ माइंड दिखाया और बुमराह की ओर गेंद फेंकी और साथ ही बुमराह को कहा कि भागकर हाथ से लगा दे। बुमराह ने ऐसा ही कुछ किया और लैथम 52 गेंद पर 65 रन बनाकर आउट हो गए। बाद में यही मैच का टर्निंग प्वाइंट साबित हुआ।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.