Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

New Delhi : भारतीय क्रिकेट टीम के हरफनमौला खिलाड़ी Rishabh Pant ने चंद्रयान-2 के जमीनी संपर्क टूटने पर ISRO के वैज्ञानिकों का हौसला बढ़ाने वाला बयान दिया है। उन्होंने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर ट्वीट किया कि “सफलता जैसी कोई चीज नहीं होती है। हमें आपके उपर गर्व है इसरो। हमारे देश के लिए किए गए आपके कठिन परिश्रम और समर्पण को हम सलाम करते हैं।”

गौरतलब है कि भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) इतिहास रचने के करीब ही था कि चंद्रयान- 2 के लैंडर विक्रम का जमीनी स्टेशन से संपर्क टूट गया। संपर्क टूट जाने के बाद वैज्ञानिकों की मेहनत वहीं बिखर गई। चंद्रयान-2 मिशन पर वैज्ञानिकों का हौसला बढ़ाने के लिए आज पूरा देश एकजुट है।

बता दें कि लैंडर विक्रम दो सितंबर को ऑर्बिटर से अलग हो गया था। चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर विक्रम की शनिवार तड़के 1 बजकर 55 मिनट पर लैंडिंग होनी थी। बाद में इसका समय बदलकर 1 बजकर 53 मिनट कर दिया गया था। लैंडर बड़े आराम से नीचे उतर रहा था। लैंडर ने सफलतापूर्वक अपना रफ ब्रेकिंग चरण को पूरा किया और अच्छी गति से चांद की सतह की ओर बढ़ रहा था। उसके बाद उसका संपर्क पृथ्वी से टूट गया।

इसरो के चेयरमैन डॉ. के सिवन ने बताया, ”विक्रम लैंडर योजना अनुरूप उतर रहा था और गंतव्य से 2.1 किलोमीटर पहले तक उसका प्रदर्शन सामान्य था। उसके बाद लैंडर का संपर्क जमीन पर स्थित केंद्र से टूट गया। डेटा का विश्लेषण किया जा रहा है।”

हालांंकि 978 करोड़ रुपये लागत वाले चंद्रयान 2 के मिशन का अभी सबकुछ खत्म नहीं हुआ है। बता दें कि चंद्रयान- 2 के तीन हिस्से थे- ऑर्बिटर, लैंडर विक्रम और रोवर प्रज्ञान। अभी भले ही लैंडर विक्रम का संपर्क टूट गया है लेकिन ऑर्बिटर से उम्मीद बाकी है। एक साल की मिशन अवधि वाला ऑर्बिटर चंद्रमा की कई तस्वीरें लेकर इसरो को भेज सकता है। वह अभी भी चंद्रमा की सतह से 119 किमी. से 127 किमी. की ऊंचाई पर घूम रहा है। इसका वजन 2379 किमी. है। इसमें 8 पेलोड भी लगे हुए हैं।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.