Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

उत्तर प्रदेश के बहुचर्चित खनन घोटाला मामले में सीबीआई ने आज बुलंदशहर के डीएम अभय कुमार सिंह के घर छापेमारी की है। डीएम आवास पर हुई छापेमारी में बड़ी संख्या में नोट बरामद होने की खबर है। जिसके चलते सीबीआई टीम ने अब नोट गिनने की मशीन भी मंगाई है।

बताया जा रहा है खनन मामले में अभय कुमार सिंह सीबीआई के रडार पर थे। खनन घोटाले का ये मामला 2012 से 2016 के बीच का है जब राज्य में समाजवादी पार्टी की सरकार थी। खनन मंत्रालय का जिम्मा खुद प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव संभाल रहे थे। ऐसे में उनपर भी लगातार सवाल उठते रहे हैं।

सूत्रों की मानें तो 2012 और 2016 के बीच कुल 22 टेंडर पास किए गए थे, जो विवाद में आए। इन 22 में से 14 टेंडर तब पास किए गए थे, जब खनन मंत्रालय अखिलेश यादव के पास ही था। बाकी के मामले गायत्री प्रजापति के कार्यकाल के हैं। एजेंसियों का मानना है कि अखिलेश यादव और गायत्री प्रजापति के अप्रूवल के बाद ही इन्हें लीज पर दिया गया था। क्योंकि 5 लाख से ऊपर का कोई भी मसला हो, उसके लिए मुख्यमंत्री की इजाजत जरूरी है।

इससे पहले जून में इसी मामले में सीबीआई ने गायत्री प्रजापति के घर पर भी छानबीन की थी। अभय सिंह, सितंबर 2013 से लेकर जून 2014 तक फतेहपुर के डीएम रह चुके हैं। अभय कुमार सिंह 2007 बैच के यूपी कैडर के IAS अधिकारी हैं। वह बुलंदशहर के अलावा फतेहपुर, रायबरेली और बहराइच के भी डीएम रह चुके हैं।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.