Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

बरेली के किला थाने में उस वक्त हड़कम्प मच गया जब केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी की बहन और मेरा हक़ फाउंडेशन की अध्यक्ष फरहत नक़वी दर्जनों महिलाओ के साथ थाने में पहुच गई। फरहत नक़वी ने इंस्पेक्टर डीसी शर्मा के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। तीन तलाक पीड़िताओं की आवाज़ उठाने वाली फरहत नकवी दर्जनों महिलाओ के साथ थाने पहुंच कर धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया।

केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी की बहन फरहत नक़वी ने आरोप लगाया कि पुलिस पीड़ितों की शिकायत दर्ज नहीं कर रही है और फतवा जारी करने वाले आरोपी चोटी कटवा मोईन सिद्दी की गिरफ्तारी भी नही कर रही है। फरहत नकवी ने शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन के खिलाफ मुकदमा दर्ज न किए जाने को लेकर भी विरोध जताया। फरहत ने इंस्पेक्टर पर खुद के लिये आपत्तिजनक टिप्पणियों के भी आरोप लगाया है ।

वही फरहत के सभी आरोपो से इंस्पेक्टर ने इंकार कर दिया। उनका कहना है कि उनके थाने में जो भी फरियादी आता है उसकी सुनवाई होती है। उन्होंने बताया कि फरहत नक़वी का जो मामला है वो पुराना है। उनका कहना है कि उन्होंने कभी भी फरहत के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पड़ी नही की।

दरअसल, तीन तलाक पीड़िताओं की लड़ाई लड़ रही फरहत नकवी और निदा खान पर एक साल पहले चोटी कटवा मोईन सिद्दीकी ने जुबानी हमला किया था। इसको लेकर काफी हंगामा भी हुआ। सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में चोटी कटवा ने तीन दिन के अंदर फरहत और निदा को देश से बाहर निकालने का ऐलान भी किया था।

इतना ही नहीं नहीं चोटी कटवा ने शिया मुसलमानों को भी गैर मुस्लिम बताकर एक नया विवाद खड़ा कर दिया है। चोटी कटवा के इस बयान के बाद शिया समुदाय में भी विरोध से सुर नजर आने लगे हैं। इसको लेकर कई बार थाने में शिकायत भी लेकिन चोटी कटवा को पुलिस ने गिरफ्तार नहीं किया गया। इसी के विरोध के चलते फरहत महिलाओं के साथ किला थाने पहुंची और धरना देकर बैठ गईं।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.