Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले में रविवार को कहर बरपाने के बाद आज दूसरे दिन भी जाना आसान नही है, उत्तराखंड और हिमाचल के ठीक बॉर्डर पर बना काष्ठा मोटर पुल भी अब बहने की कगार पर है। वहीं मौसम विभाग ने उत्तरकाशी सहित देहरादून, चमोली, पिथौरागढ़, नैनीताल और पौड़ी जिले के लिए अगले 24 घंटे भारी बताए हैं। उत्तरकाशी में करीब 13 गांव आपदा से प्रभावित हुए हैं। रविवार देर शाम तक उत्तरकाशी के आराकोट और माकुड़ी से आठ लोगों के शव बरामद हो चुके थे। सोमवार को मृतकों की संख्या बढ़कर नौ हो गई है और छह लोग अभी भी लापता हैं। लेकिन एएनआई अब तक आपदा में 17 लोगों की मौत होने की बात कह रहा है।

उत्तरकाशी जिले के मोरी आराकोट क्षेत्र में आपदा सचिव अमित नेगी, आईजी संजय गुंजयाल और उत्तरकाशी डीएम आशीष चौहान सोमवार को मौके पर हालात का जायजा लेने पहुंचे।

वहीं एसडीआरएफ, पुलिस, राजस्व टीम (तहसीलदार पटवारी), वीडीओ, खोज और बचाव दल प्रभावित गांवों में लगे हुए हैं। ग्रामीणों / स्वयंसेवकों की मदद से विभिन्न प्रभावित बिंदुओं पर खोज और बचाव अभियान चलाया जा रहा हैं।

डीएम उत्तरकाशी, आईटीबीपी, एनडीआरएफ, एफआईआरई सर्विस, क्यूआरटी, प्रभावित क्षेत्र के रास्ते पर हैं। जीआईसी आराकोट को एसएएम के रूप में मुख्य कृषि अधिकारी के साथ आधार शिविर बनाया गया है। (आराकोट के रास्ते पर) बचाव और राहत कार्य की देखभाल के लिए 4 सेक्टर अधिकारी नियुक्त किए गए हैं। एसई पीडब्ल्यूडी सड़क संचालन की देखरेख करेगा।

uttarkashi

सचिव आपदा अमित नेगी ने निर्देश दिए है कि गाड़, गदेरों  में पानी बढ़ने से  किराणु, टिकोची, माकुड़ी  में एसडीआरएफ की मदद से वैकल्पिक ब्रिज शीघ्र बनाया जाय। रेस्क्यु करने में तेजी आ सके। माकुली में 4 मृत्यु , 3 मिसिंग, आराकोट में 4  मृत्यु , स्नेल में 1  मृत्यु , 3 मिसिंग, कुल 9 की मृत्यु  तथा 6 मिसिंग अभी तक कि सूचना में, रेस्क्यु अभियान चलाया जा रहा। ट्रेक रूट से टीम भेजी जा रही हैं एसडीआरएफ की पहली टीम माकुड़ी में सर्च ऑपरेशन किया जा रहा है। मेडिकल आदि खाने के समान भेजा जा रहा है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.