Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

सहारनपुर और रूड़की पुलिस के ज्वाइंट ऑपरेशन के तहत शराब कांड के मास्टरमाइंड अर्जुन और उसके चालक को गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस ने रूड़की से अर्जुन की गिरफ्तारी के साथ एक गोदाम से केमिकल के तीन ड्रम बरामद किये हैं। आइस्ट्रो प्रोफाइल एल्कोहल नाम के केमिकल से शराब बनाकर अर्जुन उत्तराखंड और उत्तर-प्रदेश की सीमा से सटे दो दर्जन से ज्यादा गांवों में सप्लाई करता था।

सहारनपुर पुलिस ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी की जिसके अनुसार अर्जुन अपने सहयोगी सुभाष की मदद से केमिकल बेचने वाली दवा कंपनी तक पहुंचा था। 16 हजार रूपये में एक ड्रम केमिकल खरीदकर उसमें दो गुना पानी मिलाया जाता था। इस तरह तैयार शराब रूड़की और सहारनपुर जिलों के सरहदी गांवों में छोटे सप्लायरों के जरिये बेची जाती थी। दोनों राज्यों की पुलिस अब इस शराब सिडींकेट की जड़ें उखाड़ने में जुटी है।

पुलिस के मुताबिक अर्जुन ने रूड़की की दवा कंपनी एसी सेल्यूलॉज प्राइवेट लिमिटेड से यह केमिकल खरीदा था। पुलिस ने निशानदेही पर जो ड्रम बरामद किये हैं उन पर आइस्ट्रो प्रोफाइल एल्कोहल लिखा हुआ है। इस केमिकल से तैयार हुई शराब में से दो ड्रम शराब सहारनपुर के गांगलहेड़ी इलाके के गांव पुंडेन निवासी गुरू साहब सिंह उर्फ लाड्डी और चुन्हेटी शेख गांव के हरदेव को बेचे गये थे। नांगल गांव का टिंकू भी इसी तरह की दो ड्रम शराब खरीदकर ले गया था। गिरफ्तार हो चुके हरदेव ने स्वीकार किया है कि उसने इसी केमिकल से शराब तैयार की थी।

सहारनपुर के एसएसपी दिनेश कुमार पी ने बताया कि आइस्ट्रो प्रोफाइल एल्कोहल का इस्तेमाल दवा के कैप्सूल्स पर स्प्रे करने के लिए किया जाता है। इससे कैप्सूल मजबूत हो जाता है और लंबे वक्त तक चलता है। आरोपी अर्जुन शराब के धंधे में आने से पहले दवा कंपनी में काम करता था और उसे इस केमिकल के बारे में जानकारी थी।

आपको बता दें कि 2016 में अर्जुन अपने साथियों के साथ अवैध शराब बेचने के मामले में जेल जा चुका है। केमिकल की सप्लाई अर्जुन का ड्राइवर लेकर आया था। वह सहारनपुर के रामपुर मनिहारन इलाके का निवासी है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.