Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

पुलवामा आतंकी हमले के बाद देशभर में कश्मीरियों के साथ बुरा व्यवहार किया जा रहा है, कहीं से वह घर छोड़ने को मजबूर है तो कहीं  से उनके साथ मारपीट की घटनाएं सामने आ रही है, ताजा मामला उत्तर प्रदेश के लखनऊ से है, जहां सड़क किनारे ड्राई फ्रूट्स बेच रहे एक कश्मीरी युवक को लोगों ने बेरहमी से पीटा

सोशल मीडिया पर इस घटना का विडियो तेजी से वायरल हो रहा है, इस विडियो में भगवा कुर्ता पहने कुछ लोग एक कश्मीरी युवक को गाली देते हुए उसके साथ डंडे से मारपीट कर रहे हैं। पुलिस ने मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। बताया जा रहा है कि कश्मीरी युवकों को पीट रहे ये लोग किसी हिंदूवादी संगठन से जुड़े हुए हैं।

इस विडियो में आप साफ देख सकते हैं  कि लखनऊ के डालीगंज पुल के किनारे ड्राई फ्रूट्स बेचने वाले एक युवक को कुछ लोग कश्मीरी बताकर मारपीट कर रहे हैं। इतने में वहां से गुजर रहे लोगों ने बीच बचाव करके मामले को सुलझाने की कोशिश की। ड्राई फ्रूट्स विक्रेता को बचाते हुए एक शख्स ने मारपीट कर रहे लोगों को समझाया कि कानून हाथ में लेने की जरूरत नहीं है। पुलिस को बुलाना चाहिए।

आरोपियों ने कहा कि यह कश्मीरी है और ये सुरक्षाबलों पर वहां पत्थर फेंकते हैं। इसके बाद पीड़ित शख्स से आईडी कार्ड दिखाने को भी कहा गया।

आपको बता दें कि जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हमले के बाद से कश्मीरी युवाओं के साथ मारपीट के एक-दो मामले सामने आए जो फेक थे। हालांकि, लखनऊ से इस तरह का यह पहला मामला सामने आया है।

कवि कुमार विश्वास ने मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए लिखा, ‘यह क्या बेहूदगी है ? पाकिस्तान चाहता है कि कश्मीरियों के मन में बाकी देश के प्रति नफ़रत बढ़े और ये लंफगे उसी दिशा मे खुली गुंडई कर रहे हैं। डीजीपी यूपी कोई क़ानून का भय बचा है या नहीं ? भगवा मात्र पहनने से ये गुंडे ‘भगवान’ हो गए है क्या ? कश्मीरी शहीद औरंगज़ेब की रूह क्या सोचती होगी?

बता दें कि इस विडियो को सोशल मीडिया पर जमकर शेयर किया जा रहा है। विडियो वायरल होने के चंद घंटों के बाद पुलिस ने मामले में कार्रवाई करते हुए आरोपी बजरंग सोनकर को गिरफ्तार कर लिया। लखनऊ पुलिस ने हिदायत देते हुए कहा कि अगर कोई भी अराजकता फैलाएगा, उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.