Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

लगातार बारिश के चलते दिल्ली में बाढ़ का खतरा मंडरा रहा है। यमुना नदी खतरे के निशान पर बह रही है और हथिनीकुंड बैराज से लगातार पानी छोड़ा जा रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार रविवार शाम को छह बजे तक करीब 8.72 क्यूसेक पानी छोड़ा जा चुका है। इस समय यमुना का जलस्तर 204.70 मीटर है जो खतरे के निशान से 0.20 मीटर ऊपर है। सोमवार शाम तक यमुना नदी का जल स्तर 208 मीटर तक पहुंचने की संभावना जताई जा रही है।

दिल्ली में बढ़ते जलस्तर को देखते हुए दिल्ली सरकार की ओर से अधिकारियों की आपातकालीन बैठक बुलाई गई है। इस मीटिंग की अध्यक्षता दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल करेंगे। गौतम बुद्धनगर जिला प्रशासन की ओर से लोगों से सुरक्षित जगहों पर जाने की सलाह दी गई है। बाढ़ व सिंचाई विभाग सहित अन्य सरकारी एजेंसियों को सतर्क रहने के साथ ही पानी की स्थिति पर नजर बनाए रखने के लिए कहा गया है ताकि जरूरत पड़ने पर सुरक्षात्मक कदम उठाए जा सकें।

बाढ़ की आशंका को देखते हुए दिल्ली में सभी संबंधित एजेंसियां अलर्ट पर हैं। यमुना के बाढ़ क्षेत्र को खाली करने का आदेश जारी हो गया है। अधिकारियों का दावा है कि दिल्ली सरकार हर तरह के हालात से निपटने को तैयार है। वहीं हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में फिलहाल बारिश सबसे ज्यादा कहर बरपा रही है। पहाड़ी इलाकों में भूस्खलन की घटनाएं देखने को मिल रही है। कई जगहों पर बादल फटने की घटनाएं भी सामने आई हैं और इस वजह से भारी सैलाब देखने को मिल रहा है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.