Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों पर सरकार द्वारा हो रहा अत्याचार किसी से छिपा नहीं है। फिर बात चाहे सिंध-बलूचिस्तान की हो या गिलगिट-बाल्टिस्तान की। ये सच्चाई दुनिया का हर देश अच्छे से जानता है कि कैसे पाकिस्तान में अल्पसंख्यक डर और बहुसंख्यकों के रहमोकरम पर जीने को मजबूर है।

इन्हीं अत्याचारों से परेशान पाकिस्तान की सत्ताधारी पार्टी के पूर्व विधायक बलदेव कुमार ने भी परिवार के साथ भारत में शरण मांगी है। उनका कहना है कि वो किसी भी कीमत पर वापस पाकिस्तान नहीं जाएंगे।

हैरानी की बात तो ये है कि बलदेव कुमार पाक प्रधानमंत्री इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के नेता हैं। वो खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के बारीकोट आरक्षित सीट से विधायक रह चुके हैं।

बलदेव ने आरोप लगाया कि, ना केवल अल्पसंख्यक बल्कि पाकिस्तान में कोई भी सुरक्षित नहीं है। पूरे देश में जंगलराज है। खुद बलदेव को भी 2016 में हत्या के झूठे आरोप में जेल में डाल दिया गया था।

pakistan-atyachar

बलदेव अपनी और अपने परिवार की जान बचाकर भारत आए हैं। अभी वो पंजाब के खन्ना जिले में रह रहे हैं। बलदेव खुद एक समय में खैबर पख्तूनख्वा विधानसभा में अल्पसंख्यकों की आवाज बुलंद करते थे। लेकिन आज खुद अपनी जान बचाकर भागने पर मजबूर हुए हैं।

उनका कहना है कि जिस देश में सत्ताधारी दल का नेता तक सुरक्षित नहीं है वहां दूसरों की खैरियत की बात करना भी सोच से परे है। उनका यह भी कहना है कि इमरान के पीएम बनने के बाद अल्‍पसंख्‍यकां पर जुल्‍म बढ़ा है।

Also Read: भारत-पाकिस्तान के बीच पहले के मुकाबले तनाव कम है, दोनों देश चाहें तो मदद को तैयार: डोनाल्ड ट्रंप

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.