Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

पाकिस्तान से भारत आकर गुजरात में रहने वालें 600 हिंदू शरणार्थियों को भारतीय नागरिकता मिलने के बाद वो इस चुनाव में पहली बार वोट डालेंगे। इन शरणार्थियों को साल 2015 में भारत की नागरिकता मिली थी। 2019 चुनाव में इन शरणार्थियों में मोदी सरकार के प्रति क्रेज नजर आ रहा है और खुलकर उनका समर्थन करते नजर आ रहे हैं।

बता दें कि 2016 में केंद्र सरकार ने पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान के अल्पसंख्यक समुदायों- हिंदुओं और सिखों को नागरिकता जारी करने की प्रक्रिया का विकेंद्रीकरण किया था। हिंदी साइट में छपी खबर के मुताबिक 2007 तक पाकिस्तान के कराची में रहने वाले राजकोट के निवासी धानजी बागरा ने कहा कि वह लोकसभा चुनाव में नरेंद्र मोदी का समर्थन कर रहे हैं। उन्होंने हमारे लिए बहुत कुछ किया है। उन्होंने हमें यहां की नागरिकता दिलवाई और रोजगार दिलवाए।

एक और हिंदू शरणार्थी ने मोदी सरकार का खुलकर समर्थन किया। 52 वर्षीय नंदलाल मेघनानी ने कहा कि उनका वोट सिर्फ भाजपा को ही जाएगा। सिंध प्रांत के इस्लामकोट से गुजरात आए नंदलाल ने कहा कि सिर्फ मोदी ने ही हमारी आवाज सुनी। वर्ना हमें भारतीय नागरिकता मिलने में कम से कम 15-20 साल और लग जाते।

अहमदाबाद के वाटवा में रहने वाले कृष्ण महेशवरी और उनकी पत्नी मिरान को पिछले साल दिसंबर में नागरिकता दी गई। इस दंपत्ति ने कहा कि वह अपने समुदाय के नेताओं से पूछकर ही अपना वोट देंगे। हालांकि हमें अभी तक वोटर कार्ड तो हासिल नहीं हुए हैं लेकिन हमारा इरादा साफ है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.