Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तीन देशों की यात्रा पर हैं। फिलिस्तीन के बाद आज पीएम मोदी संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) की यात्रा पर हैं। पीएम मोदी यहां की राजधानी अबूधाबी में पहले हिंदू मंदिर की आधारशिला रखने के साक्षी बनें। पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के जरिए अबू धाबी के पहले मंदिर की आधारशिला रखी।

मंदिर समिति के सदस्यों ने मंदिर से जुड़ा साहित्य मोदी को आज रात यहां पहुंचने पर दिया। प्रधानमंत्री यूएई की 2015 की अपनी यात्रा के बाद दूसरी बार यहां आए हैं।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्वीट किया “दुबई-अबू धाबी राजमार्ग पर बनने वाला यह अबू धाबी का पहला पत्थर से निर्मित मंदिर होगा। यूएई में भारत के राजदूत नवदीप सिंह सूरी ने कहा, ‘‘अबू धाबी में प्रथम हिंदू मंदिर 55000 वर्ग मीटर भूमि पर बनेगा और रविवार को होने वाला इसका शिलान्यास ऐतिहासिक होगा।’’ भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समुदाय के कार्यक्रम के दौरान मंदिर की आधारशिला रखे जाने के साक्षी बनें।

सूरी ने बताया था कि रविवार को आप शिलान्यास समारोह देखेंगे जो दुबई ओपेरा हाउस से होगा। यह परंपरा का प्रौद्योगिकी से मिलना है। उन्होंने बताया कि मोदी दुबई ओपेरा हाउस में भारतीय समुदाय के साथ एक बैठक करेंगे। इस मंदिर का निर्माण भारतीय शिल्पकार कर रहे हैं। यह 2020 में पूरा होगा।

बोचासनवासी श्री अक्षर पुरषोत्तम स्वामीनारायण संस्था (बीएपीएस) के प्रवक्ता ने बताया कि पश्चिम एशिया में पत्थरों से बना यह प्रथम हिंदू मंदिर है। ट्रस्ट के एक सदस्य ने खलीज टाइम्स को बताया कि यह दिल्ली में बने बीएपीएस मंदिर और न्यू जर्सी में बन रहे मंदिर की प्रतिकृति होगी।

इस प्रोजेक्‍ट को भारत के अरबपति बिजनेसमैन बीआर शेट्टी लीड कर रहे हैं। बीआर शेट्टी ने इस पर कहा कि मंदिर अबू धाबी शहर से सिर्फ 30 मिनट की दूरी पर होगा और अबू धाबी-अल रोड हाइवे के एकदम करीब स्थित है। इस मंदिर में भगवान कृष्‍ण, भगवान शंकर, अयाप्‍पा और कुछ और भगवान की मूर्तियां हैं। इसके अलावा मंदिर वृंदावन की तर्ज पर एक बगीचा और झरना भी होगा।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.