Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

रूस से निकाले गए अमेरिकी खुफिया एजेंसी केंद्रीय खुफिया एजेंसी (CIA) के एक एजेंट ने 2016 में हुए अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव को लेकर बड़ा खुलासा किया। अमेरिकी अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स के हवाले से एजेंट ने कहा कि रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने अमेरिकी चुनाव में हस्तक्षेप के लिए अपने खुफिया अधिकारियों को आदेश दिए थे। तब वो भी रूस के उच्च अधिकारियों में शामिल थे। इसकी एक रिपोर्ट उन्होंने 2016 में ही CIA को भेजी थी।

cia

अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक, CIA एजेंट के परिजन ने बताया कि वो पुतिन के आतंरिक मामलों में शामिल नहीं था। लेकिन रूस सरकार से जुड़े उच्च स्तरीय फैसले लेने वाले अधिकारियों में था। एजेंट ने दावा किया कि पुतिन ने व्यक्तिगत तौर पर आदेश दिए और चुनाव को प्रभावित करने के लिए उच्च स्तरीय गुप्त योजनाएं बनाई थीं।

खबरों के मुताबिक, CIA एजेंट ने 2016 में भी ये जानकारी दी थी। खबर इतनी महत्वपूर्ण और विवादास्पद थी कि शीर्ष CIA अधिकारियों ने एजेंट के रेकॉर्ड और उसकी जानकारी की पूरी समीक्षा करने का आदेश दिया था। एजेंट ने कहा कि CIA को खुफिया जानकारी देने के कारण उनका करियर प्रभावित हुआ। उसे फिर कोई काम नहीं दिया गया और 2017 में रूस से निकाल दिया गया।

इससे पहले अमेरिका के विशेष अधिवक्ता रॉबर्ट मुलर ने भी दावा किया था कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को जिताने के लिए पुतिन ने अमेरिकी चुनाव में दखल दिया था। मूलर ने 448 पन्ने की एक रिपोर्ट तैयार की थी। जिसमें उन्होंने कहा था कि रूसी सेना के अधिकारियों ने डेमोक्रेट उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन के चुनाव अभियान को प्रभावित करने की कोशिश की थी।

हालांकि, ट्रंप हमेशा से ही इन दावों को बेतुका और राजनीति से प्रेरित बताकर खारिज करते आए हैं। रूस के साथ संबंधों को लेकर अकसर ट्रंप की आलोचना भी होती रहती है।

Read Also: भारत-पाकिस्तान के बीच पहले के मुकाबले तनाव कम है, दोनों देश चाहें तो मदद को तैयार: डोनाल्ड ट्रंप

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.