Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

जो आखें फिल्मी पर्दे पर बिना कहे बहुत कुछ कह जाती थी, वहीं आंखे बुधवार को बिना कुछ कहे ही अचानक इस दुनिया से विदा हो गई… अदाकारी को नया आयाम देने वाले अभिनेता इरफान नहीं रहे… 53 साल के इरफान खान ने मुंबई के कोकिलाबेन अस्पताल में आखिरी सांस ली… इरफान खान के अचानक दुनिया को अलविदा कर जाने से पूरी फिल्मी जगत और उनके करोड़ों फैंस सदमें में है… महज 53 साल की उम्र में इरफान खान का निधन यकीन से परे लग रहा है।

बॉलीवुड अभिनेता इरफान खान मंगलवार सुबह बाथरूम में गिर गए थे। उन्होंने अचानक कमजोरी की शिकायत की थी… इसके बाद उन्हें कोकिलाबेन हॉस्पिटल में आईसीयू में भर्ती करवाया गया था… पिछले शनिवार को  इरफान की मां सईदा बेगम का जयपुर में इंतकाल हो गया था…लेकिन लॉकडाउन और तबीयत खराब होने के कारण इरफान मां के जनाजे में भी शामिल नहीं हो पाए थे। उन्होंने जयपुर में परिजन से वीडियो कॉल पर बात की थी लेकिन मां के निधन के महज 4 दिन बाद ही इरफान भी दुनिया को अलविदा कह देंगे, किसी ने सोचा नहीं था…इरफान एक फाइटर थे, मुश्किलों से जूझ कर जीत हासिल करना उन्हें आता था, हाल ही में उन्होंने बीमारी को मात देकर फिर से बॉलीवुड में काम करना शुरू किया था…

दो साल पहले मार्च 2018 में इरफान को अपनी बीमारी का पता चला था। उन्होंने खुद फैंस के साथ यह खबर साझा की थी… उन्होंने ट्वीट किया था, ‘जिंदगी में अचानक कुछ ऐसा हो जाता है, जो आपको आगे लेकर जाता है। मेरी जिंदगी के पिछले कुछ दिन ऐसे ही रहे हैं। मुझे न्यूरो इंडोक्राइन ट्यूमर नामक बीमारी हुई है। लेकिन, मेरे आसपास मौजूद लोगों के प्यार और ताकत ने मुझमें उम्मीद जगाई है।बीमारी का पता लगने के बाद इरफान खान इलाज कराने लंदन गए थे। वहां वे करीब एक साल रहे और फिर अप्रैल 2019 में भारत लौटे।

वापसी के बाद उन्होंने अपनी फिल्म ‘अंग्रेजी मीडियम’ की शूटिंग राजस्थान में शुरू की और फिर आगे के शेड्यूल के लिए लंदन चले गए थे, जहां वे डॉक्टर्स के संपर्क में भी रहे। हालांकि, लॉकडाउन के चलते ये फिल्म सिर्फ दो दिन ही सिनेमाघरों में चल पाई… फिल्म के ट्रेलर रिलीज से पहले इरफान ने फैन्स के लिए यू-ट्यूब पर अपना इमोशनल मैसेज छोड़ा था। उन्होंने कहा था, “हैलो भाइयों-बहनों, नमस्कार। मैं इरफान। मैं आज आपके साथ हूं भी और नहीं भी। खैर, ये फिल्म अंग्रेजी मीडियममेरे लिए बहुत खास है। सच…यकीन मानिए, मेरी दिली ख्वाहिश थी कि इस फिल्म को उतने ही प्यार से प्रमोट करूं, जितने प्यार से हम लोगों ने बनाया है। लेकिन, मेरे शरीर के अंदर कुछ अनवॉन्टेड मेहमान बैठे हुए हैं। उनसे वार्तालाप चल रहा है। देखते हैं किस करवट ऊंट बैठता है। जैसा भी होगा आपको इत्तिला कर दी जाएगी।”

वैसे इरफान डॉक्टरों की राय लेने के लिए लंदन आते-जाते रहते थे लेकिन पिछले डेढ़ महीने से जारी लॉकडाउन के चलते सभी इंटरनेशनल फ्लाइट्स रद्द हैं।वहीं ब्रिटेन भी कोरोना से बेहाल है इसलिए, वे मुंबई से बाहर नहीं जा पाए…

इरफान ने मकबूल‘, ‘लाइफ इन अ मेट्रो‘, ‘द लंच बॉक्स‘, ‘पीकू‘, ‘तलवारऔर हिंदी मीडियमजैसी शानदार फिल्मों में काम किया था उन्हें हासिलमें निगेटिव रोल के लिए बेस्ट एक्टर, ‘लाइफ इन अ मेट्रोके लिए बेस्ट एक्टर, ‘पान सिंह तोमरके लिए बेस्ट एक्टर क्रिटिक और हिंदी मीडियमके लिए बेस्ट एक्टर का फिल्मफेयर अवॉर्ड मिला था… पान सिंह तोमरके लिए उन्हें नेशनल अवॉर्ड दिया गया था। कला के क्षेत्र में उन्हें देश का चौथा सबसे बड़ा सम्मान पद्मश्री भी मिल चुका है।

आज संभावनाओं से भरा सितारा आसमान में खो गया है… इराफान दुनिया से चले गए और अपने पीछे छोड़ गए ऐसा शुन्य जिसे भरना बेहद मुश्किल होगा।

ब्यूरो रिपोर्ट, एपीएन

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.