पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और कांग्रेस पार्टी की जिंदगी पर बनी फिल्म ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ पर शुरू हुआ विवाद खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा है। इस फिल्म का ट्रेलर रिलीज होने के बाद ये विवाद और भी गहराता जा रहा है। लोगों ने खुलकर इस फिल्म का विरोध करना शुरू कर दिया है। फिल्म में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे अभिनेता अक्षय खन्ना प्रतिक्रियाओं को एक बहस के रूप में देखते हैं, न कि विवाद के रूप में। ट्रेलर फिल्म में एक राजनीतिक दल के चित्रण के बारे में बात करता है और सवाल उठाता है कि कहीं फिल्म निर्माता का कोई राजनीतिक एजेंडा तो नहीं है।

ट्रेलर को मिली प्रतिक्रिया और उस पर विवाद के बारे में पूछने पर खन्ना ने यहां आईएएनएस को बताया, “देखिए आप इसे विवाद कहिए, मैं इसे एक बहस कहूंगा और एक लोकतांत्रिक देश में बहस होनी चाहिए।” “चाहे यह मामले के पक्ष में हो या इसके खिलाफ हो, बहस को स्वीकार किया जाना चाहिए। मैं इसकी सराहना करता हूं, क्योंकि यह तय करने का अधिकार लोगों का है कि ऐसी फिल्में बनाई जानी चाहिए या नहीं।

फिल्म में दिग्गज अभिनेता अनुपम खेर पूर्व प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह का किरदार निभा रहे हैं। अक्षय, संजय बारू के किरदार में हैं, जिन्होंने 2004 से 2008 तक प्रधानमंत्री के मीडिया सलाहकार के तौर पर काम किया था। अक्षय ने कहा, “यह पहली फिल्म है, जो कि हालिया समय के नेताओं पर बनी है, उनके असली नाम हैं और सच्ची घटनाओं पर आधारित है। ये घटनाएं सार्वजनिक हैं और लोगों को इसके बारे में बखूबी पता है।

उन्होंने कहा, “बेशक, लोगों की अपनी राय होगी और वे सोशल मीडिया, मेनस्ट्रीम मीडिया या लेख लिखकर इसके बारे में खुद को व्यक्त कर सकते हैं। दिवंगत अभिनेता-राजनेता विनोद खन्ना के बेटे ने कहा, “यह कहने के बाद, मुझे नहीं लगता कि यह कोई विवाद है। हम लोकतंत्र में जी रहे हैं। ‘द एक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टर‘ में अनुपम खेर, अक्षय खन्ना, सुजैन बर्नेट, अहाना कुमरा और अर्जुन माथुर प्रमुख भूमिकाओं में हैं। फिल्म 11 जनवरी को रिलीज होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here